भारत को रूस से जल्द मिलेगी स्पुतनिक वैक्सीन, पीएम मोदी की पुतिन से फोन पर चर्चा

स्पुतनिक-वी की आपूर्ति को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी की रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन से फोन पर वार्ता हुई है।

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) की स्थिति को देखते हुए रूस ने स्पुतनिक वैक्सीन की आपूर्ति जल्द करने का वादा किया है। पहले रूस की कंपनी आरडीआइएफ ने मई, 2021 के अंत तक भारत को स्पुतनिक-वी (sputnik v) की आपूर्ति करने का वादा किया था। मगर स्थिति को बिगड़ता देख पहली खेप को एक मई तक पहुंचाया जा

एगा। स्पुतनिक की आपूर्ति को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी की रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन से फोन पर वार्ता हुई है।

Read More: Char Dham Yatra 2021: कोरोना के चलते उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला, निलंबित की चार धाम यात्रा

हरसंभव मदद का भरोसा

गौरतलब है कि एक मई से पूरे देशभर में 18 वर्ष या इससे अधिक उम्र के लोगों को कोरोना की वैक्सीन दी जाएगी। मगर कई राज्यों में वैक्सीन की भारी कमी देखी जा रही है। ऐसे में वैक्सीन की उपलब्धता को लेकर पीएम मोदी ने ये फैसला लिया है। मोदी और पुतिन के बीच वार्ता को लेकर बताया जा रहा है कि दोनों नेताओं ने रूस में तैयार वैक्सीन का भारत में निर्माण कर इसे दूसरे देशों को निर्यात करने की संभावना पर भी चर्चा की।

तेज होगी टीकाकरण की रफ्तार

भारत ने फिलहाल वैक्सीन निर्यात पर पूरी तरह से पाबंदी लगा रखी है। पुतिन ने भारत में स्पुतनिक के इस्तेमाल की अनुमित मिलने पर खुशी जाहिर की है। इससे अगले माह भारत के पास सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक के साथ स्पुतनिक की वैक्सीन भी होगी। देश में वैक्सीन देने की रफ्तार तेज हो रही है। साथ ही कुछ मात्रा में अमरीका से भी वैक्सीन आनी शुरू हो जाएगी।

Read More: Covid-19 का कहर जारी, बीते 24 घंटे में 3.80 लाख नए केस सामने, 3600 से ज्यादा लोगों की मौत

ब्रिक्स बैठक पर चर्चा

फोन पर बातचीत के दौरान दोनों नेताओं ने भारत में होने वाली शिखर वार्ता और ब्रिक्स बैठक पर चर्चा की। दोनों बैठकों में पुतिन के भारत के दौरे पर आने की आशंका है।

चिकित्सा आपूर्ति की पहली खेप जल्द

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रूसी राष्‍ट्रपति पुतिन (Russian President Vladimir Putin) ने पीएम मोदी को सूचना दी है कि उन्होंने भारत को आपात सहायता भेजने का फैसला लिया है। रूस से चिकित्सा आपूर्ति की पहली खेप जल्द पहुंचने की उम्मीद है। इस खेप में 22 टन जरूरी उपकरण 20 ऑक्‍सीजन प्रोडक्‍शन इकाइयां के साथ 75 लंग वैंटिलेटर और कई मेडिकल उपकरण होंगे।

pm modi
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned