scriptIf management is not taken care of, then fertilizer crisis can deepen | प्रबंधन पर ध्यान नहीं दिया तो फिर गहरा सकता है खाद संकट | Patrika News

प्रबंधन पर ध्यान नहीं दिया तो फिर गहरा सकता है खाद संकट

जिले में यूरिया 5115, डीएपी का 2475 मीट्रिक टन स्टॉक उपलब्ध, गेहूं की बोवनी गति पकड़ते ही गहराएगा संकट

मोरेना

Published: November 13, 2021 11:34:54 pm

मुरैना/पोरसा. रबी सीजन में सरसों की बोवनी तो अधिकांश हो चुकी है और खाद के बड़े संकट का सामना नहीं करना पड़ा, लेकिन अब गेहूं की बोवनी बढऩे पर यूरिया खाद की मांग बढ़ सकती है और प्रबंधन ठीक नहीं रहा तो फिर लंबी कतारों का सामना करना पड़ सकता है।
प्रबंधन पर ध्यान नहीं दिया तो फिर गहरा सकता है खाद संकट
पोरसा में खाद के लिए कतार में लगे लोग।
सरसों की बोवनी के समय भी डीएपी का संकट इतना नहीं, जितना कुप्रबंधन दिखा। प्रशासन इससे सबक लेकर नियमित मॉनीटरिंग कर रहा है और मांग के अनुसार आपूर्ति लिए भी अभी से प्रबंधन की कोशिश कर रहा है, लेकिन जब एकदम मांग बढ़ती है तब वितरण व्यवस्थाएं लडखड़़ा जाती हैं। उम्मीद की जा रही है है की डीएपी की डंपिंग और कालाबाजारी के मामले में तीन एफआईआर दर्ज हो जाने के बाद इस बार कालाबाजरी करने वाले ज्यादा हावी न हो पाएं। पोरसा के कृषि विस्तार अधिकारी वीरेश शर्मा कहते हैं कि खाद की कोई किल्लत नहीं है। ब्लॉक स्तर पर कृषि कार्य के हिसाब से पर्याप्त स्टॉक मौजूद है। वितरण व्यवस्था को व्यावहारिक बनाने के लिए गल्ला मंडी में दो स्थानों पर, मार्केटिंग सोसायटी नागाजी स्कूल के सामने तथा किर्रायंच रोड पर एक जगह के अलावा बाजार में 15 दुकानों पर पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध है। कालाबाजारी और वितरण ेमे व्यावहारिकता के लिए यह जरूरी है कि किसान हर खरीदे गए खाद का बिल प्राप्त करें, ताकि आकस्मिक जांच में रास्ते में पकडऩे जाने पर कोई दिक्कत न आए। उन्होंने कहा कि यदि खाद प्राप्त करने में कोई व्यावहारिक परेशानी आती है तो कार्यालय में आकर किसान शिकायत कर सकते हैं। किसान हनुमंत सिंह कहते हैं कि खाद की व्यवस्था तो होती रहती है, लेकिन प्रशासन अचानक बढऩे वाली मांग के हिसाब से स्टॉक नहीं कर पाता। जब भीड़ होने लगती है तो हर किसान को लगता है कि खाद का संकट है और बाद में मिलेगा नहीं, इसलिए भीड़ होती है।

सरसों की बोवनी भी कर रहे किसान

बेमौसम बरसात से खराब हुई सरसों की फसल के बाद किसानों ने दोबारा बीज डाला है। अभी भी किसान बोवनी कर रहे ेहैं। अब गेहूं की बोवनी गति पकडऩे वाली है।

खाद की जिले में कहां क्या स्थिति


तहसील यूरिया डीएपी
मुरैना 1318.05 718.11
अंबाह 974.67 404.10
पोरसा 729.79 502.88
सबलगढ़ 499.62 300.15
कैलारस 1008.84 213.05
जौरा 584.14 287.50
कुल 5115.11 2425.79

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शव31 साल बाद जेल से छूटेगा राजीव गांधी का हत्यारा, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशगुजरातः चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, हार्दिक पटेल ने दिया इस्तीफा, BJP में शामिल होने की चर्चाकान्स फिल्म फेस्टिवल में राजस्थान का जलवा, सीएम गहलोत ने जताई खुशीऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का बड़ा फैसला, ज्ञानवापी सर्वे मामले को टेक ओवर करेगा बोर्डआतंकियों के निशाने पर RSS मुख्यालय, रेकी करने वाले जैश ए मोहम्मद के कश्मीरी आतंकी को ATS ने किया गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.