scriptLonar Lake 370 crore sanctioned for conservation of Lonar Crater Shinde-Fadnavis cabinet approved | Lonar Crater Lake: महाराष्ट्र की मशहूर लोनार झील का होगा कायाकल्प, शिंदे- फडणवीस सरकार खर्च करेगी 370 करोड़ रुपये | Patrika News

Lonar Crater Lake: महाराष्ट्र की मशहूर लोनार झील का होगा कायाकल्प, शिंदे- फडणवीस सरकार खर्च करेगी 370 करोड़ रुपये

Lonar Lake News: कुछ साल पहले प्रसिद्ध लोनार झील के पानी का रंग बदलकर गुलाबी हो गया, जिससे आम लोगों के साथ-साथ वैज्ञानिक भी हैरान हो गए। विशेषज्ञ इसकी वजह लवणता और जलाशय में शैवाल की मौजूदगी को मान रहे हैं। हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि इस झील के पानी का रंग पहले भी बदला है।

मुंबई

Published: July 27, 2022 05:27:53 pm

Shinde-Fadnavis Cabinet Decision On Lonar Lake: महाराष्ट्र की मशहूर लोनार झील (Lonar Lake) के संरक्षण के लिए महाराष्ट् सरकार ने बड़ा निर्णय लिया है। लोनार झील मुंबई से 500 किमी दूर बुलढाणा (Buldhana) जिले में है। यह पर्यटकों के बीच बेहद लोकप्रिय है। माना जाता है कि इस झील का निर्माण करीब 50,000 साल पहले धरती से उल्कापिंड के टकराने से हुआ था।
Lonar Lake Lonar Crater
महाराष्ट्र की मशहूर लोनार झील
जानकारी के मुताबिक, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कैबिनेट बैठक में कई अहम फैसले लिए हैं। इसके तहत राज्य की नवनिर्वाचित सरकार ने विश्व प्रसिद्ध लोनार झील के संरक्षण के लिए 370 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। लोनार झील विश्वस्तरीय पर्यटन स्थल है और काफी समय से इसके संरक्षण के लिए सरकार से धन की मांग की जा रही थी। हालांकि अब यह मांग मान ली गई है।
यह भी पढ़ें

Palghar: खिलौने की तरह हवा में कई बार पलटी स्कूल वैन, कैमरे में कैद हुआ भीषण हादसा, देखें वीडियो

इसके अलावा कैबिनेट बैठक में ग्रामीण आवास योजना को लेकर अहम फैसला लिया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में भूमिहीन लोगों को घर के लिए जगह उपलब्ध कराई जाएगी। इससे बेघर और भूमिहीन लोगों को पक्का घर मिलेगा।

इतनी खास क्यों है लोनार झील?

कुछ साल पहले प्रसिद्ध लोनार झील के पानी का रंग बदलकर गुलाबी हो गया, जिससे आम लोगों के साथ-साथ वैज्ञानिक भी हैरान हो गए। विशेषज्ञ इसकी वजह लवणता और जलाशय में शैवाल की मौजूदगी को मान रहे हैं। हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि इस झील के पानी का रंग पहले भी बदला है।
यह झील अधिसूचित राष्ट्रीय भौगोलिक धरोहर स्मारक है। इसका पानी खारा है और इसका पीएच स्तर 10.5 है। इसकी देखरेख के लिए लोनार झील संरक्षण और विकास समिति गठित की गयी है। करीब 1.2 किलोमीटर के व्यास वाली झील में दुनियाभर के वैज्ञानिकों की भी बहुत दिलचस्पी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानमाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा ऐलान, सरकार बनी तो किसानों का तीन लाख तक का कर्ज होगा माफBJP का महागठबंधन पर बड़ा हमला, सांबित पात्रा बोले- नीतीश-तेजस्वी के साथ आते ही बिहार में जंगलराज शुरूबिहार कैबिनेट पर दिल्ली में मंथन, आज शाम सोनिया गांधी से मिलेंगे तेजस्वी यादव, 2024 के PM कैंडिडेट पर बोले नीतीश कुमारCoronavirus News Live Updates in India : राजस्थान में एक्टिव मरीज 4 हजार के पारRajasthan BSP : 6 विधायकों के 'झटके' से उबरने की कवायद, सुप्रीमो Mayawati की 'हिदायत' पर हो रहा कामउत्तर प्रदेश में बैन होगी 'लाल सिंह चड्ढा'? हिन्दू संगठन ने विरोध प्रदर्शन कर CM से की प्रतिबंध लगाने की मांग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.