केवल 6 रुपए में Insured होगा आपका Bank Account से लेकर Credit Card तक

  • ICICI Lombard ने लांच किया साइबर लायबिलिटी इंश्योरेंस प्लान
  • साइबर धमकी, साइबर जबरन वसूली, मैलवेयर घुसपैठ सुविधाएं होंगी शामिल

By: Saurabh Sharma

Updated: 29 Jun 2020, 07:05 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के दौर ( Corona Era ) में जहां रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ( reserve bank of india ) आपको घर रहने और डिजिटल ट्रांजेक्शन ( Digital Transaction ) करने की सलाह दे रहा है। वहीं दूसरी और सरकार साइबर हमले ( Cyber Fraud ) और ऑनलाइन फ्रॉड ( Online Fraud ) से सावधान रहने ही भी सलाह दे रही है। ऐसे में देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक आईसीआईसीआई बैंक ( ICICI Bank ) ने एक ऐसा प्लान लांच किया है, जिससे आपको साइबर अटैक ( Cyber Attack ) से सुरक्षा तो मिलेगी ही साथ में आपका क्रेडिट कार्ड और बाकी अकाउंट भी सुरक्षित रहेंगे। खास बात तो ये है कि इस सुरक्षा के लिए आपको दिन के 6 रुपए ही खर्च करने होंगे।

Subsidy पाने के लिए इन 4 तरीकों से कराएं LPG Connection को Aadhaar Link

बैंक ने लांच किया प्लान
नॉन लाइफ इंश्योरेंस कंपनी आईसीआईसीआई लोंबार्ड जनरल इंश्योरेंस ने रिटेल साइबर लायबिलिटी इंश्योरेंस पॉलिसी पेश की है। कंपनी की यह पॉलिसी आपको और आपके परिवार को किसी भी तरह के साइबर अपराध के जोखिम से बचाने के लिए लांच किया है। यह लोगों को ऑनलाइन फ्रॉड से लेकर किसी भी तरह की ऑनलाइन वित्तीय गड़बडिय़ों से बचाती है।

ITR File करने की बढ़ सकती है तारीख, जानिए क्यों ले सकती है सरकार बड़ा फैसला

ये सुविधाएं होंगी शामिल
- चोरी की पहचान
- साइबर-धमकी
- साइबर जबरन वसूली
- मैलवेयर घुसपैठ
- बैंक खाते, क्रेडिट कार्ड और मोबाइल वॉलेट के अनधिकृत और धोखाधड़ी से उपयोग के कारण वित्तीय नुकसान।
- इंटरनेट से हानिकारक प्रकाशन को हटाने के साधनों के साथ डिजिटल प्रतिष्ठा को बहाल करने में किए गए सभी खर्चों का भी दावा किया जा सकता है।

6 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से कीमत
इस पॉलिसी को डिजिटल रूप से सक्रिय सभी व्यक्तियों द्वारा सस्ती दर पर खरीदा जा सकता है। इसका प्रीमियम 6.5 रुपए प्रति दिन से लेकर 65 रुपए प्रति दिन तक है। पॉलिसी होल्डर द्वारा चुने गए कवर के लिए बीमित राशि 50,000 रुपए से 10,000,000 तक होती है। पॉलिसी 1 वर्ष की अवधि के लिए बच्चों सहित पूरे परिवार को कवरेज प्रदान करती है। लोंबार्ड के क्लेम्स और पुनर्बीमा के चीफ संजय दत्ता के अनुसार इस दौरान साइबर हमले के जोखिम भी तेजी से बढ़े हैं। यह पॉलिसी एक ऐसे उपयुक्त समय में आता है जब हर कोई दूरस्थ रूप से काम कर रहा है, सोशल मीडिया और नेट बैंकिंग का उपयोग कर रहा है और डिजिटल रूप से सक्रिय है। यह उत्पाद व्यक्तियों की सुरक्षा के लिए बनाया गया है।

reserve bank of india
Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned