scriptJayant sitting with BJP MPs in Rajya Sabha SP-Congress people kept watching the seats changed like this | राज्यसभा में बीजेपी सांसदों के साथ बैठे जयंत, ऐसे बदली सीट देखते रह गए सपा-कांग्रेस वाले | Patrika News

राज्यसभा में बीजेपी सांसदों के साथ बैठे जयंत, ऐसे बदली सीट देखते रह गए सपा-कांग्रेस वाले

locationमुजफ्फरनगरPublished: Feb 10, 2024 01:31:14 pm

Submitted by:

Vishnu Bajpai

UP Politics: भाजपा के एनडीए में शामिल होने की अटकलों के बीच रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी के सुर बदले-बदले से दिख रहे हैं। संसद के बजट सत्र के दौरान शनिवार को वे सरकार के खेमे में बैठे नजर आए। इस दौरान विपक्षी उन्‍हें देखते रहे।

jayant_chaudhary.jpg
Jayant Chaudhary Update: भाजपा के एनडीए में शामिल होने की अटकलों के बीच रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी के सुर बदले-बदले से दिख रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देने के एलान पर संसद के बजट सत्र के दौरान शनिवार को भाजपा सरकार को धन्यवाद देते हुए उन्होंने पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ भी की। इस दौरान सपा और कांग्रेस के सांसद उन्हें देखते रहे। शनिवार को संसद में जयंत चौधरी ने कहा कि चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न से सम्मानित करने का फैसला बहुत बड़ा है। इस घोषणा के बाद लोगों ने अपने घरों में दिवाली मनाई। किसानों ने मिठाइयां बांटी। इससे यही पता चलता है कि यह फैसला सिर्फ उनके परिवार तक ही सीमित नहीं था, बल्कि किसानों को मजबूत करने वाला फैसला है।

'मैं 10 साल मैं विपक्ष में रहा पर आज यहां मेरा अपमान किया गया':जयंत

जयंत ने संसद में कहा "सभापति जी, आज मैं वरिष्ठ सांसदों के दुर्व्यवहार से बहुत दुखी हूं। मैं आपका धन्यवाद देता हूं कि आपने मुझे संरक्षण दिया। मैं अचंभित हूं कि कैसे लोग चौधरी चरण सिंह जैसी हस्ती को किसी गठजोड़ के बनने या बिगड़ने और चुनाव लड़ने और जीतने तक सीमित रखना चाहते हैं। लेफ्ट, राइट और सेंटर में ही बंटे रहेंगे तो देश असली धरती पुत्र का सम्मान हम कैसे रख पाएंगे।"
उन्होंने आगे कहा "मैं 10 साल मैं विपक्ष में रहा हूं। कुछ ही देर के लिए मैं इस तरफ बैठा हूं, लेकिन मैंने देखा है कि 10 साल में जो आज सरकार है इनकी कार्यशैली में भी चौधरी चरण सिंह के विचारों की झलक है। जब प्रधानमंत्री ग्रामीण क्षेत्रों में शौच की व्यवस्थाओं पर प्रकाश डालते हैं, जब महिला सशक्तिकरण को सरकार अपना प्लेटफॉर्म बनाती है और गांव में जागृति पैदा करती है तो मुझे उसमें चौधरी चरण सिंह की बोली याद आती है।"

जयंत ने कहा-लोगों को अपने भ्रम दूर करने चाहिए


जयंत ने कहा "राजनीति विशेषज्ञ कहते हैं कि हम लोग नेताओं को समझ नहीं पाएंगे, अगर हम इसी तरह से बंटे रहेंगे। कुछ लोग कहते हैं कि चौधरी चरण सिंह सिर्फ जाटों के नेता थे। सिर्फ किसानों के लिए काम करते थे। ऐसा नहीं है। वह विचारक थे। लोगों अपने सभी भ्रम दूर करने चाहिए।" उन्होंने आगे कहा "चौधरी चरण सिंह सभी के हैं। वे किसी एक पार्टी के नहीं हैं। सभी दल इस पल का हिस्सा बनें। मैं ऋणी हूं सरकार का। मैं कहना चाहता हूं कि ऐसी सरकार जो जमीन की आवाज को समझती है, उसे बुलंद करना चाहती है। ऐसी सरकार ही चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न दे सकती है।" इसके साथ जयंत चौधरी ट्विटर पर भी ट्रेंड करने लगे। यहां सोशल मीडिया यूजर्स ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है।

अब जानते हैं ट्विटर पर लोगों ने क्या प्रतिक्रिया दी


ट्विटर पर लोग सोशल मीडिया पर उनकी तुलना नीतीश कुमार की पाला बदली से कर रहे हैं। जनरल नरभक्षी पैरोडी नामके एक यूजर्स ने पोस्ट की है। इसमें 27 जनवरी 2022 की तारीख डालकर यूजर्स ने जयंत का बयान लिखा है। जयंत ने उस समय कहा था "मैं कोई चव्वनी हूं जो ऐसे करके पलट जाऊंगा।" उसके नीचे इसी यूजर्स ने 9 फरवरी 2024 की तारीख डालकर लिखा है "सहमत जयंत भाई, मोगली जी का भारत रत्न और राज्यसभा सीट चवन्नी नहीं होते।" इसके अलावा भी कई यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

ट्रेंडिंग वीडियो