पारिवारिक हिंसा की शिकार महिला पुलिसकर्मी, पति ने नौकरी नहीं छोड़ने पर की मारपीट

सीओ सिटी ने आरोपी पति समेत तीनों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न, कातिलाना हमला समेत अन्य धाराओं में कार्रवाई करने के आदेश दिए।

By: Nitish Pandey

Published: 14 Oct 2021, 02:41 PM IST

मुजफ्फरनगर. अगर आम महिला के साथ बर्बारता होती है तो वह पुलिस के पास जाती है, लेकिन जब पुलिस पुलिसकर्मी के साथ ही पारिवारिक हिंसा हो तो वह किसके पास जाए। ऐसा ही कुछ जनपद में देखने को मिला है, जहां महिला पुलिसकर्मी ने पति, देवर, ननद पर नौकरी छोड़ने का दबाव बनाने और विरोध पर मारपीट के बाद गला दबाकर हत्या की कोशिश करने का आरोप लगाया है। इसके बाद सीओ सिटी के आदेश पर थाना पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : आयु पूरी कर चुके जिले में फर्राटे भर रहे 45 हजार वाहन, एनजीटी ने जारी किया ये आदेश

ननद ने भी बनाया दबाव

बता दें कि सिविल लाइंस थाने में तैनात महिला पुलिसकर्मी सुनीता की शादी 28 फरवरी 2019 को हापुड़ जनपद के सिंभावली क्षेत्र के गांव दरियापुर निवासी योगेश राठी से हुई थी। जिसके बाद वह महिला पुलिसकर्मी पर नौकरी छोड़ने का दबाव बनाने लगा। बात न मानने पर युवक ने मारपीट की और जान से मारने की धमकी दी। इसके साथ ही सुनिता की ननद रश्मि भी अपने भाई के साथ मिल गई और आए दिन उसको धमकी भरे मैसेज भेजने लगी। जिसके बाद ससुराल वालो की तरफ से हो रहे अत्याचार से महिला पुलिसकर्मी परेशान हो गई। इसके बाद उसे पुलिस थाने में शिकायत करने के अलावा दूसरा कोई चारा नहीं दिखाई दिया।

सीओ सिटी ने दिए जांच के आदेश

वहीं पीड़िता ने सीओ सिटी को दी तहरीर में बताया कि सात अक्तूबर की देर रात पति महिला पुलिसकर्मी के पुलिस लाइन स्थित आवास पर पहुंचा और बुरी तरह से मारपीट करते हुए गला दबाकर हत्या करने का भी प्रयास किया। पूरा मामला सुनने के बाद सीओ सिटी ने आरोपी पति समेत तीनों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न, कातिलाना हमला समेत अन्य धाराओं में कार्रवाई करने के आदेश दिए। जिसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें : पेट्रोल-डीजल के बाद अब पीएनजी और सीएनजी के दामों में बढ़ोत्तरी, जानिए क्या हो गए दाम

Nitish Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned