जीवन में सिद्धान्तों के साथ समझौता नहीं करें

shyam choudhary

Publish: Jan, 13 2018 06:05:07 (IST) | Updated: Jan, 13 2018 06:06:58 (IST)

Nagaur, Rajasthan, India
जीवन में सिद्धान्तों के साथ समझौता नहीं करें

एक दिवसीय युवा महोत्सव एवं कॅरियर फेयर आयोजित

लाडनूं. जैन विश्वभारती संस्थान के आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय एवं कॅरियर काउसिंग सेल की ओर से शनिवार को एक दिवसीय युवा महोत्सव एवं कॅरियर फेयर आयोजित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पण्डित दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय सीकर के कुलपति प्रो. बीएल शर्मा रहे थे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि स्वार्थ से ऊपर उठकर सभी ईमानदारी के रास्ते पर कार्यकरें। उन्होंने कहा कि आजकल जरा जरा सी बातों पर सिद्धान्तों के साथ समझौते होते दिखाई देते हैं। ऐसे विकट हालातों में उन्होंने जैन विश्वभारती संस्थान की कार्य प्रक्रिया की प्रशंसा करते हुए कहा कि यहां अहिंसा एवं शांति का पाठ्यक्रम स्वयं यहां के नैतिक चरित्र को उजागर करता हैै। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रो. बीआर दूग्गड़ ने छात्राओं को जीवन को संवारने की सीख देते हुए उद्देश्यपरक कर्म में संलग्न रहने कि लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि महिलाएं स्वयं की शक्ति को पहचानकर ही अपने जीवन के स्वर्णिम लक्ष्यों की प्राप्ति कर सकती है। कार्यक्रम उद्देश्य एवं स्वरूप को आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य एवं दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के निदेशक प्रो आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने साझा करते हुए कहा कि बड़े सपनों को देखने के लिए दृढ़ विश्वास की आवश्यकता होती है। जिसके दम पर विद्यार्थी अभावों में सफ लता तलासने का उपक्रम कर अपना सर्वांगीण विकास कर सकते है। मुख्य वक्ता जैन विद्या एवं तुलनात्मक धर्म दर्शन की विभागाध्यक्ष प्रो.समणी ऋ जुप्रज्ञा ने कहा कि जीवन में सर्वांधिक महत्व लक्ष्य प्राप्ति को दिया जाना चाहिए। उसकी प्राप्ति के लिए सार्थंक क्रियान्वयन भी आवश्यक है। लक्ष्यहीन जीवन व्यक्ति को व्यक्तित्व विहीन कर देता है। इससे पूर्व प्रो. अनिलधर ने स्वागत भाषण दिया। अतिथियों का परिचय अहिंसा एवं शांति विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ.जुगल किशोर दाधीच ने दिया। आभार आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय की सहायक आचार्य डॉ. प्रगति भटनागर ने जताया। अतिथियों ने युवा महोत्सव एवं कॅरियर फेयर की स्टालों का अवलोकन करते हुए छात्राओं की मेहनत को सराहा। कार्यक्रम का संचालन संस्थान के हिन्दी व्याख्याता अभिषेक चारण ने किया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned