नहरी विभाग से मिल रहा पूरा पानी, फिर भी शहर में पेयजल किल्लत

नागौर शहर में पुरानी लाइनों को बंद कर अमृत योजना में बिछाई लाइनों से सप्लाई शुरू करने की कवायद
मार्च लगते ही शहर में शुरू हो गया प्रदर्शनों का दौर, कई मोहल्लों में 7 दिन से नहीं पहुंचा पानी

By: shyam choudhary

Published: 03 Mar 2021, 10:25 AM IST

नागौर. गर्मियों की सीजन अभी शुरू नहीं हुई है, लेकिन जिला मुख्यालय पर पेयजल किल्लत शुरू हो चुकी है। शहर के कई मोहल्लों में पिछले सात-सात दिन से पानी की सप्लाई नहीं हुई है। हालांकि सोमवार को कलक्ट्रेट व नगर परिषद में शहरवासियों द्वारा किए गए विरोध-प्रदर्शन के बाद बुधवार को नगर परिषद प्रशासन हरकत में आया और अमृत योजना की लाइनों को जोडऩे तथा पुरानी लाइनों के ब्लॉकेज निकालने का काम युद्ध स्तर पर शुरू किया।

पेयजल आपूर्ति को लेकर शहर में पिछले काफी दिनों से चल रही अव्यवस्था को लेकर राजस्थान पत्रिका ने पड़ताल की तो सामने आया कि नहरी विभाग से शहर को पिछले एक महीने से मांग से अधिक पानी दिया जा रहा है, इसके बावजूद शहर में पेयजल किल्लत की स्थिति पैदा की जा रही है। शहरवासियों द्वारा पूछने पर कर्मचारी नहर बंदी का बहाना कर रहे हैं, जबकि जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग नहरी प्रोजेक्ट के एसअई अजय शर्मा ने बताया कि एक मई तक नहर बंदी का कोई असर नहीं पड़ेगा, इसलिए नियमित रूप से पूरा पानी दिया जाएगा। गौरतलब है कि नहरी विभाग से जिले को प्रथम फेज में 65 से 70 एमएलडी तथा द्वितीय फेज में 95 से 110 एमएलडी पानी दिया जा रहा है, इस प्रकार कुल पानी 165 से 185 एमएलडी तक दिया जा रहा है।

पिछले दस दिन में गोगेलाव डेम से शहर को मिला पानी
नागौर शहर की जनसंख्या - 1.3 लाख
जनसंख्या के हिसाब से नागौर शहर की डिमांड - 13 एमएलडी
औसत पानी मिल रहा - 18 एमएलडी

दिन - पानी दिया
19 फरवरी - 17.6
20 फरवरी - 17.4
21 फरवरी - 17.9
22 फरवरी - 18.7
23 फरवरी - 18.6
24 फरवरी - 18.6
25 फरवरी - 18.5
26 फरवरी - 18
27 फरवरी - 18.2
28 फरवरी - 15.7
(पानी की मात्रा एमएलडी में)

यहां चल रहा पाइपलाइनों का काम
अमृत योजना के इंजिनियर ओम जाणी ने बताया गया कि अमृत योजना के अन्तर्गत मंगलवार को रानी बाजार में चोकिंग (ब्लॉकेज) निकाल कर इंटर कनेक्शन कार्य किया गया तथा पिंजारों का मोहल्ला, धान मंडी व सीएल मेडिकल माही दरवाजा के पास इंटर कनेक्शन जोड़े गए हैं। काली माता का मंदिर व शिव ट्रांसपोर्ट के पास लाइन डाल कर जोड़ा गया है, जिससे बुधवार को कारपुरा मोहल्ला आधा हिस्सा, गांछा बस्ती व भांड बस्ती आदि क्षेत्रों में पानी आपूर्ति कर निरीक्षण किया जाएगा तथा शेष रहे स्थानों पर इंटर कनेक्शन किया जाएगा।

आज यहां होगी जलापूर्ति
नगर परिषद के शहरी जलापूर्ति परियोजना से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि 3 मार्च को बाजरवाडा, खाई की गली, किले की ढाल, ब्रह्मपुरी, सुराणों की पोल, रानी बाजार, हिरावाड़ी, काली पोल, बंशीवाला मंदिर के सामने वाली गली, झालरा, पुर की गली व शेष रहे स्थानों पर जल आपूर्ति दी जाएगी।

यहां तीन दिन बाधित रहेगी जलापूर्ति
अमृत योजना पीएचईडी के सहायक अभियंता अजय कुमार मीणा ने बताया कि जाजोलाई व रीको जोन में राइजिंग पाइप लाइन का कार्य 3 मार्च से शुरू किया जाएगा। इस वजह से 3, 4 व 5 मार्च को इस जोन से जुड़े क्षेत्रों में जल आपूर्ति बाधित रहेगी।

जल्द सुचारू करेंगे जलापूर्ति
जिला कलक्टर के निर्देशों की पालना में शहर की जलापूर्ति की समस्याओं के संबंध में उनके नेतृत्व में सहायक अभियंता कलीम अशरफ व कनिष्ठ अभियंता माणकचंद सांखला ने मंगलवार को बासनी पुलिया, कालाजी की गली, कुम्हारवाड़ा, जीवणजी की बाड़ी आदि स्थानों पर लीकेज कार्य ठीक किए गए तथा लालजी भूजिया के पास लाइनों को जोडकऱ वाल्व लगाने का कार्य प्रगति पर है। पुरानी लाइनों को बंद कर अमृत योजना में बिछाई गई लाइनों को टंकियों से जोडऩे का कार्य चल रहा है, जिसके चलते पेयजल वितरण में बाधा आ रही है। जल्द ही व्यवस्था सुचारू कर देंगे।
- श्रवणराम चौधरी, आयुक्त, नगर परिषद, नागौर

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned