पुलिस ने जिले में प्रवेश करने वाले 15 रास्तों पर बनाए नाके, साइबर ठगों से सावधान रहने की नसीहत

Police made blockades on 15 routes entering the district, and advised to beware of cyber thugs
जिले को 1056 बीट में बांटा, कोविड-19 से बचाव के संबंध पुलिस सहायता एंव जनजागरण अभियान

By: shyam choudhary

Published: 29 Mar 2020, 11:36 AM IST

नागौर. नागौर जिले में आमजन को कोरोना वायरस (कोविड-19) से बचाव एवं कानून/सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस अधीक्षक डॉ. विकास पाठक द्वारा जिले को 1056 बीट क्षेत्र में विभाजित किया गया है तथा जिले की बॉर्डर सीमाओं पर 15 पुलिस नाके स्थापित किए गए हैं। समग्र व्यवस्था के लिए 2 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, 9 उप पुलिस अधीक्षक, 11 पुलिस निरीक्षक, 30 उपनिरीक्षक, 27 सहायक उप निरीक्षक, 166 हैड कांस्टेबल, 957 कांस्टेबल एवं 72 होमगार्ड को समस्त हल्का क्षेत्रों मे नियोजित किया गया है।

एसपी पाठक ने जिले के सभी सी.एल.जी. सदस्यों, एनजीओ, सामाजिक संगठन, स्वयंसेवी संगठन, भामाशाह, दानादाता व्यक्ति वसंस्थाओं, सेवाभावी नागरिक एवं आम नागरिकगणों से अनुरोध है कि जरूरतमंद तबके के लोगों तक भोजन, खाद्य सामग्री एवं दवाइयां पहुंचाने में सहयोग करने की अपील की है। एसपी ने कहा कि अनावश्यक कारण से घर से नहीं निकलकर कोविड-19 की चैन को तोडकऱ देश भक्ति का परिचय दें।

सोशल मीडिया पर लोगों को करें जागरूक
एसपी ने कहा कि खाद्य सामग्री क्रय करते समय निर्धारित एक मीटर की दूरी बनाएं रखें। कोविड-19 से बचाव के लिए ट्विटर, फेसबुक, सोशियल मीडिया, वाट्सएप के जरिए अधिक से अधिक अपने रिश्तेदारों, मित्रों एवं आमजन को जागरूक करें। शहरों व गावों में लोग सामाजिक सरोकार के तहत चौपाल, धार्मिक स्थलों पर एकत्र न हों एवं अपवाहों पर ध्यान नहीं दें।

मूल्य से अधिक वसूलने पर पुलिस को सूचना दें
एसपी ने अपवाह फैलाने वालों, लॉकडाउन तोडऩे वालो, दुकानदारों एवं व्यवसायिक लोगों द्वारा वस्तुओं का निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत वसूलने एवं कोविड-19 के संदिग्ध व्यक्ति, विदेश या अन्य राज्यों व जिलों से आने वाले व्यक्तियों की सूचना सम्बन्धित पुलिस थानों व पुलिस हैल्प लाइन नम्बर/ई-मेल आईडी पर तत्काल दें। साथ ही कोविड 19 की आड़ में ठगी करने वाले साइबर ठगों से बचें।

ऑनलाइन ठगी करने वालों से रहें सावधान
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते इस महामारी में उपयोग मेें आने वाली मेडिकल सामग्री जैसे मास्क/सेनेटाइजर/मेडिकल सामग्री को बेचने के नाम पर सोशल मीडिया द्वारा धोखाधड़ी हो रही है जिससे सावधान रहें। कोराना वायरस से बचने के उपाय बताने के नाम पर आमजन को मोबाइल/कम्प्यूटर के जरिए मॉलवेयर के लिंक/ऐप/एसएमएस भेजे जा रहे है जिनको ऑपन करने से मोबाइल/कम्प्यूटर से गोपनीय जानकारी चुराई जा रही है ऐसे लिंक/एप/एसएमएस को ऑपन नहीं करें।

एसपी विकास पाठक ने बताया कि साइबर ठगों द्वारा कोरोना वायरस पीडि़तों के नाम से चैरिटी में फंड देने एवं पैसा जमा करवाने के एप्स का उपयोग किया जाकर मैसेज भेजे जा रहे हैं, उन पर भी ध्यान नहीं दें। वेबसाइड पर लुभावने /प्रलोभन वाले लिंक/एप/विज्ञापन नहीं खोलें। साथ ही सोशियल मीडिया पर झूठी अफवाहों के बहकावे में नहीं आएं व इस संवेदनशील समय में धैर्य बनाए रखें।

Corona virus
shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned