scriptChinese Mobile Ban: India to impose a ban on sale of Chinese mobiles | Chinese Mobile Ban: भारत लगाने जा रहा है 12 हजार से कम कीमत के चीनी मोबाइल की बिक्री पर बैन | Patrika News

Chinese Mobile Ban: भारत लगाने जा रहा है 12 हजार से कम कीमत के चीनी मोबाइल की बिक्री पर बैन

स्वदेशी और घरेलू कंपनियों की संभावनाओं को पुनर्जीवित करने के लिए भारत सरकार चीनी कंपनियों के 150 डॉलर ( करीब 12000 रुपए) से कम के फोन बाजार से प्रतिबंधित करने पर गंभीरतापूर्वक विचार कर रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, यह कदम Xiaomi और Vivo जैसी चीनी कंपनियों के लिए एक झटका होगा। यह योजना भारत में बढ़ती उन चिंताओं के साथ मेल खाती है जिनमें दावा किया गया है कि चीनी ब्रांड स्थानीय स्मार्टफोन निर्माताओं के लिए बाजार संभावनाओं को कम कर रहे हैं।

जयपुर

Updated: August 09, 2022 08:06:35 am

चीनी मोबाइल कंपनियों की संदिग्ध गतिविधियों और उनकी बढ़ती मोनोपोली को देखते हुए अब भारत सरकार चीनी स्मार्टफोन कंपनियों पर शिकंजा कसने की योजना बना रही है। सूत्रों के अनुसार केंद्र सरकार घरेलू स्‍मार्टफोन कंपनियों को मजबूती देने के लिए चीनी मोबाइल कंपनियों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। रिपोर्ट के मुताबिक 12 हजार रुपये से कम के चीनी कंपनियों के स्‍मार्टफोन की बिक्री पर बैन लगाया जा सकता है।
chinese_mobile_banned_1.jpg
चीनी कंपनियों के लिए तय हो सकती है समय सीमा

टैक्स चोरी से लेकर मनी लांड्रिंग तक में शामिल चीन की मोबाइल फोन निर्माता कंपनियों के उत्पादन के लिए सरकार सीमा तय कर सकती है। केंद्र सरकार कथित तौर पर माइक्रोमैक्स, लावा और कार्बन जैसे घरेलू ब्रांडों को बढ़ावा देने के लिए चीनी स्मार्टफोन कंपनियों के कम कीमत (12,000 रुपये से कम) के स्मार्टफोन की बिक्री करने पर प्रतिबंध लगाने की योजना बना रही है। माना जा रहा है कि केंद्र सरकार ने यदि यह कदम उठाया तो चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों को करारा झटका लगेगा।

पारदर्शी रवैया नहीं अपना रहीं चीनी कंपनियां

सूत्रों के मुताबिक चीन की फोन निर्माता कंपनियों को 10 से 12 हजार रुपए तक के मोबाइल फोन बनाने पर रोक लग सकती है ताकि घरेलू मोबाइल फोन कंपनियों को प्रोत्साहित किया सके। चीन की मोबाइल फोन कंपनियां फोन निर्माण में पारदर्शी रवैया भी नहीं अपना रही हैं जिससे सरकार को राजस्व का नुकसान भी हो रहा है और घरेलू फोन निर्माता कंपनियां इन कंपनियों से प्रतिस्पर्धा नहीं कर पा रही हैं।
संदिग्ध पाई गई चीनी कंपनियों की गतिविधियां

सूत्रों का कहना है कि इस प्रकार का प्रस्ताव अभी प्रारंभिक चरण में है। पिछले एक साल में भारत में फोन बनाने वाली शाओमी, ओप्पो, वीवो जैसी प्रमुख चीनी कंपनियों के ठिकानों पर भारतीय जांच एजेंसियों ने छापेमारी की है। छापेमारी के दौरान इन कंपनियों की गतिविधियां संदिग्ध पाई गई है।
लावा, माइक्रोमैक्स जैसी कंपनियों को होगा फायदा

काउंटरप्वाइंट की रिपोर्ट के मुताबिक देश में एक तिहाई से अधिक 12,000 रुपए से कम कीमत के स्मार्टफोन बिकते हैं और इनमें 80 फीसद हिस्सेदारी चीनी फोन निर्माता कंपनियों की है। इस सेगमेंट में चीन की कंपनियों पर रोक लगने से लावा, माइक्रोमैक्स जैसी कंपनियों को फायदा हो सकता है।
एप्पल और सैमसंग के उत्पादन पर नहीं पड़ेगा फर्क

चीन की मोबाइल फोन निर्माता कंपनियों के भारत में दाखिल होने से पहले घरेलू स्तर पर इन दोनों कंपनियों की सबसे अधिक हिस्सेदारी थी। सूत्रों का कहना है कि सरकार के इस प्रस्ताव से एप्पल और सैमसंग के उत्पादन पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। सैमसंग भी काफी कम संख्या में 12,000 रुपए से कीमत दाम के फोन बनाती है।
स्वदेशी 5जी टेस्ट बेड का हो सकेगा मुफ्त इस्तेमाल

यही नहीं सरकार की तरफ से मंजूरी प्राप्त स्टार्टअप और एमएसएमई अगले साल जनवरी तक स्वदेशी 5जी टेस्ट बेड का मुफ्त इस्तेमाल कर सकेंगे। यही नहीं 5जी से जुड़े अन्य स्टेकहोल्डर्स भी कम शुल्क पर स्वदेशी 5जी टेस्ट बेड का इस्तेमाल कर सकेंगे। टेलीकॉम विभाग ने 5जी उपकरण निर्माता, आरएंडडी संस्था व अन्य विशेषज्ञों से टेस्ट बेड का इस्तेमाल कर तेज गति से 5जी नेटवर्क की स्थापना करने के लिए कहा है।

स्वदेशी 5जी टेस्ट बेड के इस्तेमाल से भारतीय स्टार्टअप और एमएसएमई वैश्विक स्तर के 5जी उत्पाद विकसित कर सकेंगे। टेलीकॉम विभाग के मुताबिक 224 करोड़ की लागत से आठ भारतीय संस्थाओं की मदद से भारत में 5जी टेस्ट बेड विकसित किया गया है। देश में पांच जगहों पर 5जी टेस्ट बेड उपलब्ध हैं। इनमें आईआईटी मद्रास, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी हैदराबाद, आईआईटी कानपुर और आईआईएससी बंगलुरू शामिल हैं।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

जम्मू-कश्मीर: उधमपुर धमाके की जांच के लिए फॉरेंसिक एक्सपर्ट के NIA की टीम रवाना, आतंकी साजिश की आशंकाआज से 2 दिन के गुजरात दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी, 29 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं की देंगे सौगातNew CDS: रिटायर्ड ले. जनरल अनिल चौहान को मिली CDS की कमान, अजीत डोभाल के करीबी और आतंकवाद पर लगाम लगाने में हैं माहिरहाई कोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव आज, इन दिग्गजों में होगी टक्करमहंगी हुई मिठाइयां, कीमतों में 5 प्रतिशत की तेजीसरकारी कर्मचारियों का गहलोत सरकार ने बढ़ाया डीए, दिवाली से पहले बड़ा तोहफापद्मश्री राम सुतार बनाएगें अयोध्या में लगाने वाली विश्व की सबसे ऊंची श्री राम की मूर्ति.....जाने कब होगा स्थापितबारिश से जर्जर मकान, ले डूबा चार मासूमों की जान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.