scriptबलात्कार की त्रासदी से बाहर निकल तेलंगाना की इन बच्चियों ने रचा इतिहास, मेहनत के दम पर चूम लिया आसमान | Father and relative raped girls they topped in 10th class examination in Telangana | Patrika News
राष्ट्रीय

बलात्कार की त्रासदी से बाहर निकल तेलंगाना की इन बच्चियों ने रचा इतिहास, मेहनत के दम पर चूम लिया आसमान

Rape Survivor’s Success Story: बच्चियों की जब खेलने, कूदने और पढ़ने की उम्र थी तब उसके पिता और रिश्तेदार बलात्कार जैसे कुकर्म को को अंजाम देने में लगे रहे। एक 15 साल की बच्ची तो प्रेग्नेंट तक हो गई। लेकिन बच्चियों ने अपने नुचे हुए पंख को फिर से संजोया और लंबी उड़ान भरने की कसमें खाई। आइए यहां पढ़ते हैं ऐसी बहादुर बच्चियों की कहानियां।

नई दिल्लीMay 09, 2024 / 03:57 pm

स्वतंत्र मिश्र

Rape Survivor Girl’s Stories: अब लड़कियां सचमुच मजबूत हो रही हैं। वह पढ़ाई और नौकरी हासिल करने की ताकत समझने लगी हैं और यही वजह है कि वह किसी भी विपरीत या त्रासदीभरी जिंदगी से लड़कर पार पा लेती है। हैदराबाद की ​एक बच्ची का पिता और तो एक का नजदीकी रिश्तेदार ने बलात्कार किया। दोनों ने सदमे से बाहर निकलकर जिंदगी की कैनवास पर ऐसी जीवंत कहानी रची जिसकी मिसाल सदियों तक जमाने में दी जाती रहेगी।
तेलंगाना में 10वीं कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्र-छात्राओं में दो ऐसी लड़कियां भी शामिल हैं जिन्होंने बलात्कार की विभिषका झेलने के बावजूद अपना वजूद साबित किया। मानसिक पीड़ा के बीच परीक्षा में सफलता की कहानी लिखी।
10वीं की परीक्षा एवं परिणाम यूं तो हर साल चर्चा का विषय रहता है लेकिन इस बार तेलंगाना बोर्ड कुछ ऐसी लड़कियों के कारण चर्चा में है जिन्होंने मानसिक दृढ़ता की एक अलग परीक्षा दी है। जीवटता ऐसी की अपने लोगों का दिया जख्म भूल गई। तय किया तो सिर्फ मंजिल।

दादी ने बच्चे को जन्म दिलवाकर लड़की को पढ़ने में लगाया

बात कर रहे हैं हैदराबाद की दो लड़कियों की। एक लड़की से उसके पिता ने बलात्कार किया तो दूसरी लड़की के साथ उसके रिश्तेदार ने। 15 साल की पहली लड़की के गर्भ में जब शिशु पलने लगा तो खुलासा हुआ। दादी सहारा बनी और बच्चे को जन्म दिलाकर मां से अलग कर दिया। पिता की पीड़िता ने इस सदमे के बावजूद 15 साल की लड़की ने दसवीं कक्षा की परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त किए। अब पिता अब आजीवन करावास की सजा काट रहा है।

पुलिस ने पीड़ित बच्ची को उबरने में की भरपूर मदद

वहीं दूसरी पीड़िता 16 साल की है। इसका एक नजदीकी रिश्तेदार ने बलात्कार किया। इस लड़की से उसके सगे संबंधियों ने भी किनारा कर लिया। अब इस लड़की ने 10वीं कक्षा की परीक्षा में अच्छे अंक (9.3 GPA) हासिल किया है। पुलिस प्रशासन इससे खुश है और इस तरह से लड़कियों को उबारने में मदद को तैयार है।

Hindi News/ National News / बलात्कार की त्रासदी से बाहर निकल तेलंगाना की इन बच्चियों ने रचा इतिहास, मेहनत के दम पर चूम लिया आसमान

ट्रेंडिंग वीडियो