scriptTata Steel employees are able to give job to their children or dependent | Good News: टाटा स्टील की कर्मचारियों को बड़ी सौगात, अब बच्चों या आश्रितों को दे सकेंगे अपनी नौकरी | Patrika News

Good News: टाटा स्टील की कर्मचारियों को बड़ी सौगात, अब बच्चों या आश्रितों को दे सकेंगे अपनी नौकरी

locationनई दिल्लीPublished: Nov 24, 2023 07:53:43 pm

Submitted by:

Shivam Shukla

टाटा स्टील ने अपने कर्मचारियों को एक गुड न्यूज दी है। कंपनी ने एक सर्कुलर जारी कर कहा कि कर्मचारी अपने बच्चों या आश्रित को अपनी नौकरी दे सकते हैं।

tata steel

टाटा स्टील ने साल 2023 खत्म होने से पहले अपने कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है। कंपनी ने अपने कर्मचारियों के लिए 'जॉब फॉर जॉब स्कीम' का ऐलान किया है। कंपनी के ऑफर के मुताबिक, एक निश्चित समय पूरा करने वाली कर्मचारी अपनी नौकरी को अपने बेटी-बटे या अपने आश्रित को दे सकते हैं। इस स्कीम का फायदा उठाने के लिए कर्मचारी 15 दिसंबर तक आवेदन कर सकते हैं। कंपनी ने इस स्कीम का नाम ‘सुनहरे भविष्य की योजना’ रखा है।

ये लोग दे सकेंगे अपनी नौकरी

इस स्कीम के लिए टाटा स्टील की वाइस प्रेसिडेंट (एचआरएम) अत्रैयी सान्याल के आदेश से सर्कुलर भी जारी कर दिया गया है। जिसमें कहा गया है कि 'जॉब फॉर जॉब स्कीम' के तहत कर्मचारी अपने पुत्र, पुत्री, दामाद या किसी अन्य को आश्रित नामित कर अपनी नौकरी दे सकेंगे। इस स्कीम के तरह वो लोग आवेदन कर सकेंगे, जिनकी रिटायरमेंट की उम्र कम से कम साढ़े पांच साल बाकी है। हालांकि आश्रितों को इसके लिए एक परीक्षा पास करनी होगी।

उम्मीदवारों को देना होगा परीक्षा

इस परीक्षा में तीन बार शामिल होने का मौका दिया जायेगा। इसके बाद ट्रेनी के तौर पर उनकी सेवा शुरू होगी। इस दौरान उन्हें स्टाइपेंड दिया जायेगा। ट्रेनिंग पूरा करने के बाद उनकी सेवा स्थायी की जायेगी। परीक्षा में असफल आश्रित को नौकरी से वंचित होना पड़ सकता है।

बता दें कि इसके लिए वैसे कर्मचारी आवेदन कर सकते हैं, जिनकी आयु या तो 40 साल से ज्यादा है या जो कंपनी में दस साल से अधिक समय तक काम कर चुके हैं। इन स्कीमों के लिए कर्मियों के चयन का अधिकार प्रबंधन के पास होगा।

मिलेंगी ये सुविधाएं

'सुनहरे भविष्य की योजना' के तहत संबंधित कर्मचारी, उसके पति या पत्नी, बेटे को 24 वर्ष की आयु तक और बेटी को उसके विवाह के पूर्व तक कंपनी के हॉस्पिटल में इलाज की सुविधा मिलेगी। कर्मचारी को 58 वर्ष की उम्र तक या योजना का लाभ लेने के बाद अधिकतम छह वर्ष तक क्वार्टर की सुविधा मिलेगी।

यदि उनके आश्रित भविष्य में कंपनी के स्थायी कर्मचारी बनते हैं, तो उन्हें क्वार्टर के लिए 10 अतिरिक्त प्वाइंट मिलेंगे। इसके अलावा कर्मियों को पीएफ, ग्रैच्युटी, फेयरवेल गिफ्ट, पेंशन स्कीम का लाभ कंपनी के नियमों के तहत मिलेगा।

ट्रेंडिंग वीडियो