हाईटेक सिटी के बीच जापानी विधि से बसाया जाएगा जंगल, यह है वजह- देखें वीडियाे

हाईटेक सिटी के बीच जापानी विधि से बसाया जाएगा जंगल, यह है वजह- देखें वीडियाे

Nitin Sharma | Publish: Sep, 12 2019 02:21:09 PM (IST) Noida, Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • शहर के बीच इतने हजार वर्ग मीटर क्षेत्रफल में शुरू होगी जंगल बसाने की प्रक्रिया
  • कोरियन कंपनी सीएमआर गतिविधियों के तहत लगाएंगी दो लाख पौधे
  • दस साल तक पौधे के रखरखाव की जिम्मेदारी भी लेगी कंपनी
  • प्रदेश का पहला ऐसा जिला होगा गौतमबुद्ध नगर जहां लगाये जाएंगे इतने लाख पौधे

नोएडा। शहर में बढ़ती हाईराइज बिल्डिंगों के बीच शहरी वन क्षेत्र को हरा भरा बनाने के लिए गौतमबुद्धनगर जिला प्रशासन ने यहां हजारों वर्गमीटर जमीन पर जंगल बसाने की पहल की है। प्रशासन दक्षिण कोरिया की कंपनी सैमसंग इंडिया के साथ मिल कर यह करेगा। जिसके अंतर्गत नोएडा में सीएसआर गतिविधियों के तहत कंपनी 71,450वर्गमीटर क्षेत्रफल में करीब दो लाख पौधे लगायेगी। ये पौधे मियावाकी विधि (जापानी विधि) द्वारा लगाये जाएंगे। कंपनी के प्रबंध निदेशक एम.एस.चेंग तथा गौतमबुद्धनगर के जिलाधिकारी बीएन सिंह के बीच बुधवार को पौधारोपण के लिये एमओयू पर हस्ताक्षर किये गये। जिसके अनुसार न सिर्फ कंपनी पौधे लगायेगी। बल्कि 10सालों तक पेड़ का रखरखाव भी करेगी।

खुशखबरी: इन कंपनियों में मिलेगा हजारों लोगों को राेजगार, युवाओं की हो जाएगी बल्ले-बल्ले

कंपनी के साथ प्रशासन ने साइन किया एमओयू

डीएम कैंप ऑफिस में एमओयू पर हस्ताक्षर करते हुए कंपनी के प्रबंध निदेशक एम.एस.चेंग तथा गौतमबुद्धनगर के डीएम बीएन सिंह ने बताया कि कंपनी सीएसआर के तहत ग्राम नंगला चमरू में मियावाकी विधि से पौधारोपण कर घना जंगल विकसित करेगी। इतना ही नहीं 10 वर्ष तक कंपनी पौधों की सुरक्षा, सिंचाई तथा देखभाल समेत सभी अनुरक्षण कार्य भी करेगी।

इस काम को करने के लिए जेई ले रहा था इतनी मोटी रकम, एंटी करप्शन टीम ने ऐसे दबोचा- देखें वीडियो

प्रदेश के सबसे ज्यादा पौधों वाला जिला होगा गौतमबुद्ध नगर

डीएम ने बताया कि जिला प्रशासन का प्रयास है कि गौतमबुद्धनगर सर्वाधिक हरे भरे पेड़ पौधों वाला प्रदेश का पहला जिला बने। इसके पूर्व जिला प्रशासन ने डा. विलमर श्वाबे कंपनी के सहयोग से सूरजपुर में, एक फाउंडेशन द्वारा ग्राम सोरखा जाहिदाबाद में, रोटरी क्लब अशोका द्वारा ग्राम डाढा, सुथियाना तथा लखनावली में एक लाख वर्ग मीटर में और एक एजुकेशनल सोसाइटी द्वारा जेवर में 3,73,531वर्ग मीटर में पौधारोपण किया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned