मायावती ने अपने जन्मदिन पर इस कारोबारी को दिया बड़ा गिफ्ट, अपने गृह जनपद से घोषित किया लोकसभा 'प्रत्याशी'

मायावती ने अपने जन्मदिन पर इस कारोबारी को दिया बड़ा गिफ्ट, अपने गृह जनपद से घोषित किया लोकसभा 'प्रत्याशी'

Nitin Sharma | Publish: Jan, 15 2019 08:18:42 PM (IST) Noida, Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh, India

बसपा के पश्चिम उत्तर प्रदेश प्रभारी ने घोषित किया नाम

नोएडा।बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती का मंगलवार को प्रदेश भर में कार्यकर्ता आैर नेताआें ने 63 वां जन्मदिवस मनाया।इस अवसर पर नेताआें ने केक काटने के साथ ही लोकसभा चुनाव में जीतने का दावा किया।वहीं मायावती ने इस अवसर पर अपने होम टाउन यानि गौतमबुद्ध नगर सीट से एक कारोबारी को बड़ा गिफ्ट दिया है।इसकी घोषणा मंगलवार को उनकी पार्टी के ही पश्चिम उत्तर प्रदेश प्रभारी समशुद्दीन राइन ने सूरजपुर में केक काटने के दौरान की।उन्होंने जेवर विधानसभा में आने वाले चीती गांव के एक कारोबारी को लोकसभा प्रभारी नियुक्त किया है।जिसके बाद कारोबारी को इस सीट से टिकट मिलने पक्की दावेदारी मानी जा रही है।

यह भी पढ़ें-Video: आजम खान बोले-थोड़ी सी भी शर्म है तो भाजपा को वोट दो, जानिए क्यों

इस कारोबारी को दी गर्इ लोकसभा सीट की जिम्मेदारी

गौतमबुद्ध नगर जिलाध्यक्ष लखमी सिंह ने बताया कि जिले के ग्रेटर नाेएडा स्थित सूरजपुर में बसपा सुप्रीमो मायावती का 63 वां जन्मदिवस मनाया गया। इस अवसर पर पश्चिम उत्तर प्रदेश के प्रभारी समशुद्दीन राइन भी पहुंचे। यहां उन्होंने जेवर विधानसभा में आने वाले चीती गांव के कारोबारी संजय भाटी काे लोकसभा प्रभारी नियुक्त किया। वहीं बता दें कि संजय भाटी राजनीति के एकदम नए खिलाड़ी हैं और वह पहली बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं। उनकी पहचान अभी तक एक व्यापारी के रूप में ही है। गुर्जर बाहुल्य इस महत्वपूर्ण सीट पर सियासत के नए खिलाड़ी को मैदान में उतारकर बसपा ने सभी को चौंका दिया है।

बसपा के लिए सबसे महत्वपूर्ण लोकसभा सीट है ये

गठबंधन में बसपा की सीटें भी लगभग तय हो चुकी हैं। इनमें पार्टी ने एक तरह से लोकसभा प्रभारी बनाये गये संजय भाटी को लोकसभा टिकट फाइनल कर दिया है। गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट बसपा के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण सीटों में से एक है। इसकी वजह यहां मायावती का पैतृक गांव बादलपुर होना है। वह यहां की रहने वाली है। एेसे में इस सीट को लेकर वह कोर्इ भी दांव हल्के में नहीं खेल सकती। उधर घोषणा के बाद से राजनीतिक गलियारों में इसकी चर्चा शुरू हो गर्इ है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned