चीन को पछाड़ते हुए एशिया का दूसरा सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनेगा यूपी में, 2023 में शुरू होंगी फ्लाइट्स

Highlights
- योगी सरकार ने किया स्पेशल परपज व्हीकल के रूप में युमना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड का गठन
- चीन के शंघाई स्थित इंटरनेशनल एयरपोर्ट से भी बड़ा होगा जेवर एयरपोर्ट
- प्रदेश सरकार ने दो रन-वे के स्थान पर छह रन-वे के विस्तार की कार्यवाही भी शुरू की

नोएडा. उत्तर प्रदेश सरकार (Uttar Pradesh Government) ने जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) के लिए स्पेशल परपज व्हीकल (SPV) के रूप में युमना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड (YIAPL) का गठन कर लिया गया है। प्रदेश सरकार के प्रवक्ता का कहना है कि जेवर एयरपोर्ट चीन (China) काे पछाड़ते हुए एशिया (Asia) का दूसरे सबसे बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा। एसपीवी के गठन को लेकर प्रमुख सचिव शशिप्रकाश गोयल ने ट्वीट करते हुए जानकारी दी है।

यह भी पढ़ें- Republic Day 2020: 26 जनवरी को ये मेट्रो स्टेशन रहेंगे बंद, पार्किंग सुविधा भी नहीं मिलेगी

उन्होंने कहा है कि यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड (Yamuna International Airport Private Limited) में उत्तर प्रदेश सरकार के दो और विकासकर्ता ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी के तीन प्रतिनिधि शामिल हैं। याेगी सरकार ने नागरिक उड्डयन विभाग के निदेशक सुरेंद्र सिंह व नायल के सीईओ अरुण वीर सिंह को प्रतिनिधि बनाया है। इसके साथ ही एसपीवी को जेवर एयरपोर्ट के निर्माण की निगरानी के लिए नियुक्त किया गया है।

बता दें कि सीएम योगी के निर्देश पर निर्धारित समय पर कार्य करते हुए विभाग ने एसपीवी गठन के बाद पर्यावरण की अनुमति के लिए भी कार्यवाही शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि 28 जनवरी को केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय में पर्यावरण क्लीयरेंस के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक होगी। इस बैठक में निदेशक सुरेंद्र सिंह उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से शामिल होंगे। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस बैठक में ही क्लीयरेंस मिल सकता है। इसके साथ ही प्रदेश सरकार ने दो रन-वे के स्थान पर छह रन-वे के विस्तार की कार्यवाही भी शुरू कर दी है।

योगी सरकार के प्रवक्ता का कहना है कि जेवर एयरपोर्ट चीन को पछाड़ते हुए एशिया का दूसरा सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। इससे उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को नई गति के साथ ही रोजगार और व्यापार के अवसर भी बढ़ेंगे। बता दें कि दुनिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट सऊदी अरब का दामम के किंग फ हद इंटरनेशनल एयरपोर्ट 77,600 हेक्टेयर जमीन पर बना है। इस तरह चीन के शंघाई प्रांत का इंटरनेशनल एयरपोर्ट एशिया का दूसरा सबसे बड़ा एयरपोर्ट है, जो करीब 3988 हेक्टेयर में है। वहीं, जेवर में करीब 5000 हेक्टेयर में प्रस्तावित एयरपोर्ट पर 2022-23 में फ्लाइट्स का संचालन शुरू हो जाएगा। जेवर में बनने वाला यह एयरपोर्ट चीन से भी बड़ा होगा।

यह भी पढ़ें- VIDEO: ब्लूचिस्तान के निकले दोनों ठग, पुलिस की वर्दी में फर्रुखाबाद से मेरठ बाइक से आते थे लूट करने

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned