UP की 'सबसे अमीर' अथॉरिटी Lockdown के बीच इतने लोगों को खिलाएगी खाना, आप भी करेंगे तारीफ

Highlights:

-सीईओ रितु महेश्वरी ने सामुदायिक किचनों एवं रहने हेतु निर्मित किए गए सेंटर होम का निरीक्षण किया

-उन्होंने बताया कि नोएडा में कुल 10 स्थानों पर शेल्टर होम खोले गए हैं

-एक शेल्टर होम में 50-60 लोगों के रुकने का इंतजाम किया गया है

By: Rahul Chauhan

Updated: 04 Apr 2020, 12:19 PM IST

नोएडा। उत्तर प्रदेश की सबसे अमीर अथॉरिटी कहे जाने वाली नोएडा प्राधिकरण ने शहर में 20 जगह शेल्टर होम बनवाए हैं। इनमें लोगों के रहने, खाने, नहाने व अन्य जरूरी सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी। शहर के कई कम्युनिटी सेंटरों को शेल्टर होम में बदला गया है। आगे जरूरत पड़ी तो तो इनकी संख्या और बढ़ाई जाएगी। नोएडा अथॉरिटी ने इन सभी बरातघरों में बने शेल्टर होम में लोगों को ठहरने के लिए गद्दे डलवाए हैं। साथ ही वहां पर सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा गया है। ये बातें नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने शुक्रवार को कही।

यह भी पढ़ें : जमातियों की इन अजीबो—गरीब डिमांड को सुनकर आपको आएगा गुस्सा

दरअसल, सीईओ रितु महेश्वरी ने व्यक्तियों को प्राधिकरण द्वारा भोजन वितरण कराए जाने हेतु बनाए गए सामुदायिक किचनों एवं रहने हेतु निर्मित किए गए सेंटर होम का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने भंगेल, सोरखा, मामूरा के सामुदायिक किचन एवं सेक्टर 62 हजरत वाजिदपुर, छलेरा, पर्थला, सेक्टर-122 के शेल्टर होम में वहां मौजूद सुविधाओं एवं कमियों का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि नोएडा में कुल 10 स्थानों पर शेल्टर होम खोले गए हैं। एक शेल्टर होम में 50-60 लोगों के रुकने का इंतजाम किया गया है

यह भी पढ़ें: Noida में सीजफायर कंपनी के कारण Coronavirus की चपेट में आए मां-बेटे, 50 पहुंची संख्या, 8 ठीक होकर घर गए

सीईओ ने बताया कि शनिवार से जरूरतमंद लोगों को खाने के एक हजार पैकेट वितरित किए जाएंगे। रविवार से खाने के पैकेट की संख्या बढ़ाकर 07 हजार की जाएगी। लॉकडाउन के दौरान ई-रिक्शा और मेट्रो रेल की फीडर बसों को भी बंद कर दिया गया है। लेकिन, इससे जरूरतमंदों तक सुविधाएं पहुंचाने में अड़चनें आ रही हैं। भोजन और राशन पहुंचानें के लिए ई-रिक्शा और मेट्रो रेल की फीडर बसों को भी इस काम में लगाया जाएगा।

coronavirus
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned