अगर गर्मी से बचने के लिए आप भी जा रहे हैं वाटर पार्क तो पढ़ लें ये खबर, हो सकता है धोखा

अगर गर्मी से बचने के लिए आप भी जा रहे हैं वाटर पार्क तो पढ़ लें ये खबर, हो सकता है धोखा

Rahul Chauhan | Publish: Jun, 14 2018 08:41:49 PM (IST) | Updated: Jun, 15 2018 02:01:40 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

नोएडा के सेक्टर-38ए स्थित जीआईपी मॉल में स्थित वाटर पार्क का ऑनलाइन टिकट बुक कर फर्जी तरीके से बेचते चार स्टूडेंट गिरफ्तार

नोएडा। मोदी सरकार ऑनलाइन लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए लोगों को प्रोत्साहित कर है। वहीं कुछ लोग ऑनलाइन लेनदेन की कमियों का फायदा उठा फर्जीवाड़ा करने में जुटे है। नोएडा के सेक्टर-38ए स्थित जीआईपी मॉल में स्थित वाटर पार्क का ऑनलाइन टिकट बुक कर, उसे फर्जी तरीके से बेचते हुए चार स्टूडेंट को थाना सेक्टर-39 पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से पांच फर्जी टिकट, पांच प्रवेश बैंड वाटर पार्क, हजारों की नकदी और चार मोबाइल फोन बरामद किए हैं।

यह भी पढ़ें-पहले मोबाइल पर ऐसे देखिए रेलवे के किचन में कैसे बन रहा है खाना, उसके बाद कीजिए ऑर्डर

थाना सेक्टर-39 पुलिस की गिरफ्त में दीपक, अमन, अभय और विकास को फर्जी टिकट के साथ पकड़ा गया है। चारों दोस्त होने के साथ-साथ अलग-अलग क्लास में पढ़ रहे हैं। इन लोगों को गूगल और यू ट्यूब से देख कर टिकट बुकिंग में फर्जीवाड़ा करने की सूझी और ये इस धंधे से जुड़ गए। इस गिरोह के मास्टर माइंड दीपक ने बताया कि टिकट बुकिंग कर जब वे पेमेंट गेट वे पर पहुंचते उस दौरान लेनदेन को रोक देते थे, जिससे इनवॉइस जनरेट हो जाता था। लेकिन लेनदेन को रोक देने से पैसा वापस इनके अकाउंट में लौट आता था, ये इनवॉइस को दिखा कर टिकट ले लेते थे और उसे कम दामों में बेच देते थे।

यह भी पढ़ें-Nirjala Ekadashi 2018: इस दिन है निर्जला एकादशी, जानिए क्या है इसका महत्व

Police with accused

यह भी देखें-सपाईयों का गले मे टोंटी की माला डालकर प्रदर्शन

जीआईपी मॉल के पास चेकिंग कर थाना सेक्टर-39 पुलिस ने इन चारों को उस समय पकड़ा जब ये फर्जी टिकट बेचने की फिराक में घूम रहे थे। उसी दौरान कोतवाली सेक्टर-39 के प्रभारी अनिल शाही ने बताया कि ये लोग जीआईपी की वेबसाइट से फर्जी तरीके से वाटर पार्क का ऑनलाइन टिकट बुक करते थे और फिर उसे बेचकर मुनाफा कमाते थे। इनके कब्जे से ऑनलाइन बुक किए पांच फर्जी टिकट, वाटर पार्क के पांच प्रवेश बैण्ड , 3200 रुपये नगद और चार मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं।

Ad Block is Banned