यूपी के पूर्व सीएम Mulayam Singh की वजह से Sushma Swaraj को रहना पड़ा था 'आसमान' में

यूपी के पूर्व सीएम Mulayam Singh की वजह से Sushma Swaraj को रहना पड़ा था 'आसमान' में

Rahul Chauhan | Updated: 08 Aug 2019, 01:37:22 PM (IST) Noida, Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh, India

खबर की मुख्य बातें-

-Sushma Swaraj बुधवार को पंचतत्व में विलीन हो गईं

-वेस्ट यूपी से Sushma का गहरा नाता रहा है

-नोएडा से लेकर मेरठ तक प्रत्येक कार्यक्रमों में शामिल होने वह यहां आती रहती थीं

नोएडा। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) बुधवार को पंचतत्व में विलीन हो गईं। दिल्ली के लोधी रोड स्थित शवदाह गृह में पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान भारी संख्या में लोग उनके अंतिम दर्शन करने पहुंचे। वहीं यूपी के गढ़मुक्तेश्वर में सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) की अस्थियों का विसर्जन किया जाएगा। इस सबके बीच आज हम आपको एक ऐसे वाकये के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे शायद ही आप जानते होंगे।

यह भी पढ़ें : मायावती ने बसपा में किया बड़ा फेरबदल, इस मुस्लिम नेता को सौंपी यूपी की कमान

sushma

दरअसल, वेस्ट यूपी से सुषमा स्वराज का गहरा नाता रहा है। वह नोएडा से लेकर मेरठ तक प्रत्येक कार्यक्रमों में शामिल होने यहां आती रहती थीं। बात 10 अप्रैल 2007 की है। जब सुषमा विधानसभा चुनाव के चलते हेलिकॉप्टर से मेरठ आईं थीं। इस दौरान उन्हें काफी देर तक आसमान में ही हेलिकॉप्टर में रहना पड़ा था। इसका कारण यह था कि मेरठ प्रशासन ने सुषमा स्वराज के हेलिकॉप्टर को उतरने के लिए पुलिस लाइन में व्यवस्था की थी। लेकिन सुषमा के हेलिकॉप्टर से से पहले यूपी के तत्कालीन मुख्यमंत्री Mulayam Singh का हेलिकॉप्टर वहां आ गया। जब सुषमा का हेलिकॉप्टर वहां पहुंचा तो उसे उतरने का संकेत नहीं मिला और वह आसमान में ही काफी देर तक चक्कर काटता रहा।

यह भी पढ़ें : sushma swaraj की अस्थियों को गंगा में विसर्जित करते हुए फूट-फूटकर रोने लगी बांसुरी, देखें Video-

sushma

इसके बाद प्रशासन ने सुषमा के हेलिकॉप्टर को विक्टोरिया पार्क में उतरवाने का फैसला किया। इसकी जानकारी भाजपा नेताओं को भी नहीं थी। जिसके चलते वह पुलिस लाइन में ही अपनी नेता के हेलिकॉप्टर से उतरने का इंतजार करते रहे। वहीं प्रशासन ने हेलिकॉप्टर बिना जानकारी के विक्टोरिया पार्क में उतरवा दिया। वहां पर भाजपा का कोई कार्यकर्ता मौजूद नहीं था। हालांकि बाद में जब उन्हें मालूम हुआ तो मौके पर भाजपा नेता व कार्यकर्ता पहुंचे और सुषमा स्वराज को अपने साथ चुनाव में पार्टी के लिए वोट मांगने के लिए जनसभा को संबोधित करने को ले गए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned