आत्म-दर्शन : दिल को रखें पाक

कुरान में फरमाया गया है कि, 'और ईश्वर का डर रखो। निस्संदेह ईश्वर दिल तक की बातें जानता है

By: Patrika Desk

Published: 13 Aug 2021, 12:45 PM IST

इस्लाम इंसानों को अपने दिल को पाक साफ रखने और मन से सच्चे बने रहने की हिदायत देता है। इस्लाम के मुताबिक सच्चे और साफ दिल वाला ही सफल इंसान होता है और सुकून हासिल करता है।

कुरान में ये स्पष्ट रूप से लिखा गया है कि , 'कह दो कि तुम्हारे दिलों में जो कुछ है उसे चाहे तुम छिपाओ या व्यक्त करो, ईश्वर उसे जानता ही है। और वह जानता है जो कुछ आकाश में हैं और जो कुछ धरती में हैं। ईश्वर को हर चीज का सामथ्र्य प्राप्त है। (कुरआन-3:29)

ईश्वर इंसानों को छल-कपट और बनावटीपन से दूर रह कर सही नीयत से कर्म करने को पे्ररित करता है। कुरान में फरमाया गया है कि, 'और ईश्वर का डर रखो। निस्संदेह ईश्वर दिल तक की बातें जानता है। (कुरआन-5:7)। ईश्वर लोगों को उसके स्मरण पर उभारता है और कहता है, 'ईश्वर के जिक्रसे दिलों को इत्मीनान हासिल होता है।'

Patrika Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned