कश्मीर विवाद पर पाक की नई चाल, अमरीका से कहा- वार्ता के लिए भारत को मनाएं

कश्मीर विवाद पर पाक की नई चाल, अमरीका से कहा- वार्ता के लिए भारत को मनाएं

Anil Kumar | Updated: 03 Aug 2019, 07:56:08 AM (IST) पाकिस्तान

  • डोनाल्ड ट्रंप ने पाक पीएम इमरान खान के सामने कश्मीर विवाद पर मध्यस्थता के लिए पेशकश की थी
  • भारत ने साफ कर दिया है कि कश्मीर विवाद पर किसी तीसरे पक्ष का हस्तक्षेप मंजूर नहीं है

इस्लामाबाद। भारत-पाकिस्तान के बीच दशकों से चले कश्मीर विवाद के समाधान को लेकर पाकिस्तान ? ने भारत पर आरोप लगाया है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ( Foreign Minister Shah Mahmood Qureshi ) ने शुक्रवार को अमरीका से आग्रह किया है कि वे कश्मीर विवाद के समाधान के लिए भारत को वार्ता के टेबल पर आने के लिए मनाएं।

अमरीकी मीडिया का दावा, 'कश्मीर विवाद पर मध्यस्थता' की बात ट्रंप की सबसे बड़ी कूटनीतिक भूल

पाकिस्तान और भारत के बीच दशकों से चले आ रहे कश्मीर विवाद पर मध्यस्थता की पेशकश को लेकर अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की प्रतिक्रिया का जवाब देते हुए कुरैशी ने कहा कि भारत वार्ता से बच रहा है और इस मामले पर बातचीत करने के लिए तैयार नहीं है।

कुरैशी ने जियो न्यूज से बात करते हुए भारत पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि भारत अधिकृत कश्मीर ( IOK ) में हिन्दुस्तान रक्तपात कर रहा है, आम कश्मीरियों को मारा जा रहा है।

कुरैशी ने कहा 'भारत का कहना है कि यह एक द्विपक्षीय मामला है, लेकिन वार्ता के लिए मेज पर आने के लिए भी तैयार नहीं है'।

डोनाल्ड ट्रंप और इमरान खान

भारत ने ठुकराया पाक का आग्रह

भारतीय विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर ( External Affairs Subrahmanyam Jaishankar ) ने कश्मीर विवाद पर दो पड़ोसियों के बीच अमरीकी राष्ट्ररपति ट्रंप की ओर से मध्यस्थता करने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि विवादित क्षेत्र पर कोई भी चर्चा द्विपक्षीय और केवल पाकिस्तान के साथ होगी।

ट्रंप ने पिछले महीने प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ व्हाइट हाउस में मुलाकात के दौरान कश्मीर मुद्दे को सुलझाने में मदद करने की पेशकश की थी। अमरीकी राष्ट्रपति ने इस सप्ताह की शुरुआत में व्हाइट हाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान एक बार से हस्तक्षेप करने का प्रस्ताव दोहराया था।

ट्रंप-इमरान मीटिंग: कश्मीर विवाद पर अमरीकी राष्ट्रपति ने की पहल, कहा- मध्यस्थता के लिए तैयार

कुरैशी ने कहा कि ट्रंप ने क्षेत्रीय स्थिति को ध्यान में रखते हुए मध्यस्थता की पेशकश की। हम इस प्रस्ताव के लिए धन्यवाद करते हैं और हमने अपनी इच्छा व्यक्त की है।हम शांति चाहते हैं।

हमारा ध्यान अभी अफगान शांति प्रक्रिया में है। अगर भारत अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया के लिए कोई बाधा पैदा करने की कोशिश करता है, तो क्षेत्रीय शांति को नुकसान होगा।

विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा भारत, कश्मीर वार्ता के लिए आसानी से सहमत नहीं है। हम आग्रह करते हैं अमरीका अपने प्रभाव का इस्तेमाल करे और भारत को मनाने के लिए वार्ता टेबल पर आने के लिए मनाएं। इस संबंध में वह संयुक्त राष्ट्र महासचिव को एक पत्र लिख रहे हैं।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned