scriptBihar Pashupatinath paras paswan big statement will continue to be part of NDA | एलजेपी में टूट के बीच पशुपति पारस का बड़ा बयान, एनडीए का हिस्सा थे और आगे भी रहेंगे | Patrika News

एलजेपी में टूट के बीच पशुपति पारस का बड़ा बयान, एनडीए का हिस्सा थे और आगे भी रहेंगे

locationनई दिल्लीPublished: Jun 14, 2021 11:48:49 am

एलजेपी सांसद पशुपतिनाथ बोले- पार्टी को तोड़ नहीं रहे बल्कि बचा रहे हैं, कुछ असामाजिक तत्वों ने LJP में सेंध डाला और कार्यकर्ताओं के भावना की अनदेखी कर गठबंधन तोड़ दिया

Bihar Pashupatinath paras paswan big statement will continue to be part of NDA
Bihar Pashupatinath paras paswan big statement will continue to be part of NDA
नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी ( LJP ) में बड़ी टूट के बाद पशुपतिनाथ कुमार पारस ( Pashupatinath Kumar Paras ) का बड़ा बयान सामने आया है। मीडिया से बातचीत में पारस ने कहा है कि हम लोकजनशक्ति पार्टी को तोड़ने का नहीं बल्कि बचाने का काम कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि हम तीनों भाइयों में बहुत बनती थी लेकिन राम विलास के निधन के बाद मैं अकेला महसूस कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि हमने पार्टी तोड़ी नहीं बल्कि बचाई है। यही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि हम एनडीए का हिस्सा थे और आगे भी रहेंगे।
यह भी पढ़ेँः LJP में अकेले पड़े चिराग पासवान, चाचा पारस समेत 5 सांसदों ने की बगावत

बिहार की राजनीति में अचानक एक बार फिर हलचल तेज हो गई है। एलजेपी के छह में पांच सांसदों ने चिराग के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। चाचा पशुपतिनाथ पारस के नेतृत्व ने इन सांसदों ने लोकसभा स्पीकर को चिट्ठी लिखकर अगल मान्यता दिए जाने की बात कही है।
एलजेपी में इस टूट के बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता और हजारीबाग से सांसद पशुपतिनाथ पारस का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी बिखर रही थी कुछ असामाजिक तत्वों ने हमारी पार्टी में सेंध डाला और कार्यकर्ताओं के भावना की अनदेखी करके गठबंधन को तोड़ दिया।
पारस ने कहा कि हम पार्टी को तोड़ने का नहीं बल्कि बचाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि पिछले साल हमारे भैया रामविलास पासवान का निधन हुआ, उससे पहले करीब 20 बरस उनके नेतृत्व में पार्टी बहुत बढ़िया तरीके से चल रही थी। कहीं कोई शिकवा शिकायत नहीं था। मेरा दुर्भाग्य कहिए कि मेरे बड़े भाई और छोटे भाई दोनों हमको छोड़कर चले गए। मैं अकेला महसूस कर रहा हूं।'
चिराग पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा- पार्टी की बागडोर जिनके हाथ में गई, उन्होंने 99 फीसदी कार्यकर्ता की भावना की अनदेखी कर गठबंधन को तोड़ दिया। गठबंधन भी तोड़ा तो बेहद अजीब तरीके से, किसी से दोस्ती करेंगे, किसी से प्यार करेंगे, किसी से नफरत करेंगे।
नतीजा यह हुआ कि बिहार में एनडीए गठबंधन कमजोर हुआ, लोक जनशक्ति पार्टी बिल्कुल समाप्ति के कगार पर चली गई।

यह भी पढ़ेंः तेलंगाना सीएम ने कोरोना के बीच IAS अधिकारियों के लिए खरीदीं 32 लग्जरी कारें, जानिए क्या दी सफाई

भतीजे को लेकर कही ये बात
पशुपति कुमार पारस ने कहा कि चिराग पासवान के रहने से मुझे कोई परेशानी नहीं है। हमारी पार्टी पहले की तरह रहेगी। हम एनडीए से जुड़े रहेंगे।
नीतीश की तारीफ
एक तरफ पासर ने भतीजे के फैसलों पर नाराजगी जताई तो दूसरी तरफ नीतीश कुमार की तारीफ में भी कसीदे भी पढ़े। उन्होंने कहा कि मैं नीतीश कुमार को अच्छा लीडर मानता हूं। वो विकास पुरूष हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो