Bihar: Congress Legislature Party की बैठक में हाथापाई, जानें किस बात पर शुरू हुआ विवाद

  • बिहार विधानसभा चुनाव का रिजल्ट आने के बार राज्य में राजनीतिक हलचल तेज गई
  • भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने बिहार में सरकार बनाने की कवायद तेज कर दी

By: Mohit sharma

Updated: 13 Nov 2020, 09:17 PM IST

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव ( Bihar Assembly Election ) का रिजल्ट आने के बार राज्य में राजनीतिक हलचल तेज गई है। सियासी दलों और नेताओं के बीच बैठकों का दौर जारी है, वहीं विपक्षी पार्टियां सत्ता पक्ष पर जमकर हमला बोल रही हैं। भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ( NDA ) ने बिहार में सरकार बनाने की कवायद तेज कर दी है। वहीं, राष्ट्रीय जनता दल ( RJD ) और कांग्रेस नेता भी भविष्य के लिए रणनीति बनाने में जुटे हैं। इस बीच शुक्रवार को बिहार कांग्रेस ( Congress ) में नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में कांग्रेस विधायकों के बीच जमकर बवाल मचा और हाथापाई भी हुई।

दिवाली पर PM मोदी का देशवासियों के नाम संदेश- एक दीया सीमा पर तैनात जवानों के लिए जलाएं

कांग्रेस विधायकों की बैठक में हंगामा

दरअसल, कांग्रेस विधायकों की बैठक में हंगामा उस समय हो गया जब विधायक विजय शंकर दुबे को चोर कह दिया गया। कांग्रेस विधायक दल की बैठक में महाराजगंज से कांग्रेस विधायक विजय शंकर दुबे और विक्रम से विधायक सिद्धार्थ के बीच में कांग्रेस विधायक दल के नेता बनने को लेकर विवाद हो गया। जानकारी के अनुसार बैठक के दौरान सिद्धार्थ गुट के नेताओं ने विजय शंकर दुबे को चोर कर दिया। जिससे नाराज होकर दुबे के समर्थकों ने हंगामा शुरू कर दिया। देखते ही देखते हंगामें ने झगड़े का रूप ले लिया। जिसके बाद नेताओं में हाथापाई और धक्का-मुक्की की नौबत आ गई।

Delhi: Festive Season में Corona ने लगाई छलांग, 11 दिन में 768 लोगों की मौत

भूपेश बघेल और कांग्रेस नेता अविनाश पांडे भी बैठक में मौजूद थे

यहां खास बात यह है कि जिस समय कांग्रेस विधायक दल की बैठक चल रही थी। उस समय वहां पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस नेता अविनाश पांडे भी बैठक में मौजूद थे। आपको बता दें कि बिहार में कांग्रेस इस बार कोई बड़ी सफलता हासिल नहीं कर सकी है। कांग्रेस ने राजद के साथ महागठबंधन के तहत 70 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे, जिसमें से 19 के सिर ही जीत का सेहरा सजा सका। कांग्रेस को इस बार 8 सीटों का सीधा सीधा नुकसान पहुंचा है। क्योंकि पिछले चुनाव में कांग्रेस ने 27 सीटें हासिल की थी।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned