कर्नाटक ने बिगाड़ा बिहार-गोवा का गणित, आरजेडी-कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा

कर्नाटक ने बिगाड़ा बिहार-गोवा का गणित, आरजेडी-कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा

Kiran Rautela | Publish: May, 18 2018 03:07:22 PM (IST) राजनीति

गोवा में कांग्रेस के 13 विधायकों ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा भी पेश किया।

नई दिल्ली। कर्नाटक चुनाव के आग की तपिश अब देश के अन्य राज्यों में भी फैलने लगी है। बता दें कि कर्नाटक में राज्यपाल ने भाजपा को सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते पहले सरकार बनाने का न्यौता दिया, जिसके बाद से राजनीतिक गलियारों का पारा गर्माया हुआ है। यहां तक कि ये गर्माहट बिहार, मणिपुर, मेघालय और गोवा तक पहुंच गई है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बोले येदियुरप्पा- साबित करेंगे बहुमत, हमारे पास पर्याप्त संख्या

राज्यपाल से मिले गोवा कांग्रेस के 13 विधायक

खबर है कि गोवा में कांग्रेस के 13 विधायकों ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा भी पेश किया। वहीं बिहार में सबसे बड़े दल आजेडी के नेता तेजस्वी यादव ने भी राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया है।

अन्य राज्यों में भी हुआ असर

जानकारी है कि सिर्फ बिहार और गोवा ही नहीं बल्कि मणिपुर के पूर्व मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह और मेघालय में पूर्व सीएम मुकुल संगमा ने भी राज्यपाल से मिलने की मांग की है। बता दें इन सभी राज्यों के ये दल कर्नाटक के फाॅर्मूले को अपनाने की मांग कर रहे हैं। इनकी मांग है कि उन्हें सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने के लिए बुलाया जाए।

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला: कल शाम 4 बजे तक बहुमत साबित करें येदियुरप्‍पा

गोवा के लिए अलग फाॅर्मूला क्यों

गोवा पर गिरीश चोडणकर ने अपनी बात रखी और कहा कि राज्यपाल अगर कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने के लिए बुला सकते हैं तो गोवा में भी ऐसा फाॅर्मूला होना चाहिए। दो राज्यों के लिए अलग-अलग नियम कैसे हो सकते हैं।

इसी तर्ज पर गोवा कांग्रेस के प्रवक्ता यतीश नाइक ने भी कहा कि 2017 में हम सबसे बड़ी पार्टी थे और हमारे पास 17 सीटें भी थी जबकि भाजपा के पास मात्र 13 सीटें थीं फिर भी भाजपा को ही सरकार बनाने के लिए क्यों बोला गया।

राज्यपाल ने दिया भाजपा को न्यौता

बता दें कि कुछ दिन पहले ही कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे आए, जिसमें भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई। भाजपा को 104 सीटें मिली लेकिन बहुमत के लिए किसी भी पार्टी को कम से कम 112 सीटें चाहिए थे। जिसके बाद से कांग्रेस ने जेडीएस के साथ मिलकर 116 सीटें हासिल। लेकिन राज्यपाल ने भाजपा को सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने के लिए बुलाया।

Ad Block is Banned