महाराष्ट्र चुनाव से पहले शिवसेना को बड़ा झटका, 26 पार्षद और 300 कार्यकर्ताओं ने दिया इस्तीफा

महाराष्ट्र चुनाव से पहले शिवसेना को बड़ा झटका, 26 पार्षद और 300 कार्यकर्ताओं ने दिया इस्तीफा

Prashant Kumar Jha | Publish: Oct, 10 2019 10:00:47 AM (IST) | Updated: Oct, 11 2019 10:53:51 AM (IST) राजनीति

  • महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव
  • 24 अक्टूबर को मतों की होगी गिनती
  • चुनाव से पहले टिकट बंटवारों को लेकर गहमागहमी

नई दिल्ली। महाराष्ट्र चुनाव से पहले टिकट बंटवारों को लेकर सियासी दलों में घमासान मचा है। इसी कड़ी में शिवसेना को बड़ा झटका लगा है। टिकट नहीं मिलने से नाराज नेताओं और कार्यकर्ताओं ने इस्तीफा दे दिया है। महाराष्ट्र के 26 शिवसेना पार्षदों और 300 कार्यकर्ताओं ने पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को अपना इस्तीफा भेजा है। महाराष्ट्र चुनाव में सीट बंटवारे से ये पार्षद और कार्यकर्ता नाराज हैं।

कार्यकर्ताओं ने अनदेखी का आरोप लगाया

नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पार्टी पर अनदेखी करने का आरोप लगाया है। कार्यकर्ताओं का आरोप है कि वह कई सालों से पार्टी के लिए अपना खून पसीना बहा रहे हैं और चुनाव के दौरान उनकी अनदेखी कर टिकट किसी और को दे दिया गया है। गौरतलब है कि महाराष्ट् में 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे।

ये भी पढ़ें: पंजाब: फिरोजपुर में फिर देखे गए 2 पाकिस्तानी ड्रोन, दहशत में ग्रामीण

21 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव
महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव है। वहीं 24 अक्ट्रबर को चुनाव के नतीजे आएंगे। बता दें कि दूसरी बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सत्ता में वापसी के बाद हरियाणा और महाराष्ट्र में भाजपा के लिए यह पहला विधानसभा चुनाव है। महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल नौ नवंबर को खत्म हो रहा है।

ये भी पढ़ें: सलमान खुर्शीद के बयान पर राशिद अल्वी का पलटवार, घर के लोग ही घर में आग लगा रहे

2014 में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनी थी

महाराष्ट्र विधानसभा में सीटों की संख्या 288 है। इसमें 234 सामान्य सीटें हैं। वहीं अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए 29 और 25 सीटें आरक्षित हैं। 2014 में भारतीय जनता पार्टी 122 सीटें जीत कर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी। वहीं 63 सीटों के साथ दूसरे नंबर की पार्टी बनी थी। जबकि कांग्रेस 42 सीटों के साथ तीसरे स्थान पर और शरद पवार की राकांपा 41 सीटें हासिल कर चौथे स्थान पर आई थी। महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना का गठबंधन हुआ और देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में संयुक्त सरकार बनी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned