मानसून सत्रः याद किए गए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी समेत दिवंगत नेता

  • सोमवार से संसद के मानसून सत्र ( Parliament monsoon session ) की शुरुआत, दोनों सदनों में दी गई श्रद्धांजलि।
  • राज्यसभा और लोकसभा में दिवंगत नेताओं को याद करते हुए रखा गया मौन।
  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ( Pranab Mukherjee ), मौजूदा सांसद एच वसंतकुमार ( MP H Vasanthakumar ) समेत 18 का इस साल निधन।

 

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के बीच पुख्ता इंतजाम और विशेष सुविधाओं के साथ संसद का मानसून सत्र ( Parliament monsoon session ) सोमवार से शुरू हो गया है। संसद के मौजूदा सत्र के पहले दिन दोनों सदनों में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ( Pranab Mukherjee ) समेत सदन के उन 18 अन्य पूर्व और मौजूदा सांसदों को भी श्रद्धांजलि दी गई, जिनका इस वर्ष निधन हो गया है। राज्यसभा और लोकसभा के सभापति की अगुवाई सोमवार को सांसदों द्वारा दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि दी गई।

मानसून सत्र की शुुरुआत से पहले संसद से आई बड़ी जानकारी, कोरोना वायरस जांच में एक साथ इतने सारे सांसद पॉजिटिव

इस मौके पर उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन के साथ भारत ने एक सक्षम प्रशासक और महान राजनेता खो दिया है। इसके साथ ही संसद के उच्च सदन ने बेनी प्रसाद वर्मा, एमपी वीरेंद्र कुमार और अमर सिंह समेत राज्यसभा के तीन मौजूदा सदस्यों को भी श्रद्धांजलि दी, जिनका हाल ही में निधन हो गया था।

इसके अलावा पूर्व सदस्यों अजीत पीके जोगी, सरोज दुबे, विश्व बंधु गुप्ता, बिष्णु चरण दास, राम अवधेश सिंह, हिपहेई, एमवी राजशेखरन, सनातन बीसी, बसंत कुमार दास, आरटी गोपालन, भवानी चरण पटनायक, श्यामल चक्रवर्ती, नंदी येल्लयाह और नरेंद्र कुमार स्वैन को भी सांसदों द्वारा याद करते हुए श्रद्धांजलि दी गई।

इस दौरान सदन ने प्रसिद्ध भारतीय शास्त्रीय गायक पंडित जसराज को भी याद किया। पंडित जसराज का बीते 17 अगस्त को निधन हो गया था। राज्यसभा में इन दिवंगत नेताओं के सम्मान के रूप में सभी सदस्यों ने सदन में दो मिनट का मौन रखा और बाद में स्थगित कर दिया गया।

देश में तेजी से बढ़ते जा रहे कोरोना वायरस मामलों के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने सुनाई बड़ी राहत की खबर

वहीं, इस दौरान लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत सभी सदस्य उचित दूरी बनाए रखने के साथ मास्क पहने हुए बैठे नजर आए। सदन ने देश के उन बहादुर सैनिकों को भी श्रद्धांजलि अर्पित की, जो ड्यूटी के दौरान शहीद हो गए थे। लोकसभा अध्यक्ष ने कोरोना योद्धाओं का भी आभार व्यक्त किया, जिनमें डॉक्टर, नर्स, आशा कार्यकर्ता, सफाईकर्मी और पुलिस के प्रतिनिधि शामिल थे।

शोक व्यक्त करते हुए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि भारत रत्न प्रणब मुखर्जी चौदहवीं और पंद्रहवीं लोकसभा के सदस्य थे। उन्होंने कहा कि मुखर्जी आज के सबसे बड़े नेताओं में से हैं, जो लोकतंत्र के बुनियादी सिद्धांतों का सम्मान करते थे और एक बहुत ही सफल राजनीतिज्ञ थे। मुखर्जी का 84 वर्ष की आयु में बीते 31 अगस्त को निधन हो गया था।

लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि उनका लंबा और सफल राजनीतिक जीवन रहा और उन्होंने कई किताबें लिखीं। बिरला ने कन्याकुमारी निर्वाचन क्षेत्र के मौजूदा सांसद एच वसंतकुमार ( MP H Vasanthakumar ) के निधन पर भी शोक व्यक्त किया। दो बार के सांसद वसंतकुमार का बीते 28 अगस्त को 70 वर्ष की आयु में निधन हो गया था।

इसके अलावा बिरला ने कहा कि भारतीय शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का संगीत करियर 75 साल लंबा था, जिसमें उन्हें तमाम राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय ख्याति, सम्मान और कई प्रमुख पुरस्कार और प्रशंसा मिलीं। उन्होंने कहा कि पं. जसराज को पद्म श्री, संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, पद्म भूषण और पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

pm modi
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned