इन बड़े नेताओं के मनाने से भी नहीं माने तोगड़िया, राम मंदिर निर्माण के लिए आज शुरू करेंगे अनशन

इन बड़े नेताओं के मनाने से भी नहीं माने तोगड़िया, राम मंदिर निर्माण के लिए आज शुरू करेंगे अनशन

Mohit sharma | Publish: Apr, 17 2018 11:00:11 AM (IST) राजनीति

वीएचपी के पूर्व अंरराष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया मंगलवार को राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करने जा रहे हैं।

नई दिल्ली। विश्व हिन्दू परिषद (वीएचपी) के पूर्व अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया मंगलवार को राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करने जा रहे हैं। हालांकि तोगड़िया को मनाने के लिए कई स्तरों पर बड़े प्रयास किए गए, लेकिन उन्होंने पीछे हटने से इनकार कर दिया। यहां तक कि स्वयं सेवक संघ की गुजरात इकाई के तीन उच्च पदाधिकारियों ने भी तोगड़िया से संपर्क साधा, लेकिन वो अपनी बात पर अडिग रहे। तोगड़िया ने प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा कि देश में महिला अपराध चरम पर है। महिलाएं पूरी तरह से असुरक्षित हैं। देश में रेप हो रहे हैं और प्रधानमंत्री विदेश घूम रहे हैं। बता दें कि पीएम मोदी अपने पांच दिवसीय स्वीडन और ब्रिटेन के दौरे पर हैं।

नेपाल में भारतीय दूतावास के बाहर विस्फोट, सीमा पर बढ़ाई चौकसी

राम मंदिर निर्माण पर हुए मुखर

तोगड़िया ने वीएचपी के नए नेतृत्व से भी अनशन में शामिल होने की मांग की। वीएचपी पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि नया नेतृत्व राम मंदिर निर्माण और हिन्दुत्व से जुड़े मुद्दों पर अपना एजेंडा जाहिर करे। पूर्व वीएचपी नेता ने कहा कि जनता से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण और कश्मीर से धारा 370 हटाने जैसे वादे किए गए थे। इन वादों के आधार पर ही वह अपनी मांग पर अड़े हैं।

धूपबत्ती और किताब से धनकुबेर बन गया था आसाराम, खड़ा किया 2300 करोड़ का साम्राज्य

बीजेपी और संघ से नाराज थे तोगड़िया

दरअसल, अयोध्या राम मंदिर विवाद पर संसद में कानून बनाए जाने की मांग पर अड़िग तोगड़िया लंबे से समय बीजेपी व संघ से नाराज थे। यहां तक की वह कई बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी सार्वजनिक रूप से आलोचना कर चुके हैं। यही कारण है कि वीएचपी अध्यक्ष पद से उनका जाना तय माना जा रहा था। बता दें कि वीएचपी की स्थापना 29 अगस्त 1964 को हुई थी। इसके बाद पहली बार परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए चुनाव कराया गया है। चुनाव में कुल 192 लोगों ने अपने मत का इस्तेमाल किया। इसमें से विष्णु सदाशिव कोकजे को 131 और तोगड़िया के नजदीकी राघव रेड्डी को 60 वोट पड़े। जिसके बाद कोकजे को वीएचपी का नया अध्यक्ष घोषित कर दिया गया था।

 

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned