नेपाल में भारतीय दूतावास के बाहर विस्फोट, सीमा पर बढ़ाई चौकसी

नेपाल में भारतीय दूतावास के बाहर विस्फोट, सीमा पर बढ़ाई चौकसी

Mohit sharma | Publish: Apr, 17 2018 10:29:38 AM (IST) एशिया

नेपाल में भारतीय दूतावास के पास बम विस्फोट की जानकारी समाने आई है। यह विस्फोट विराटनगर में भारतीय दूतावास भवन के ठीक पीछे हुआ है।

नई दिल्ली। नेपाल में भारतीय दूतावास के पास बम विस्फोट की जानकारी समाने आई है। यह विस्फोट विराटनगर में भारतीय दूतावास भवन के ठीक पीछे हुआ है। बताया जा रहा है कि यह एक प्रेशर कुकर बम था, जिसके फटने से आसपास के इलाके में सनसनी मच गई। वहीं, घटना के बाद भारत-नेपाल सीमा पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हालांकि विस्फोट में अभी तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है। घटना की जांच कर रही नेपाल पुलिस के अनुसार घटना स्थल बिहार की अररिया सीमा के काफी पास है। यह इस तरह की पहली घटना है जब नेपाल में भारतीय दूतावास के नजदीक ऐसा हुआ हो।

सूरत रेप केस अब सीबीआई के हवाले, बच्ची के साथ एक हफ्ते तक हुई थी दरिंदगी

एसएसबी जवानों ने की पुष्टि

भारत-नेपाल सीमा पर तैनात एसएसबी जवानों ने घटना का पुष्टि करते हुए कहा उन्हें इस तरह की सूचना मिली है। जिसके बाद सीमा पर चौकसी और सुरक्षा बढ़ा दी गई है। भारतीय दूतावास भवन के पास यह घटना ऐसे समय हुई है, जब भारत और नेपाल के बीच संबंधों में प्रगाढता आई है। बता दें कि इस माह नेपाल के प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली भारत यात्रा पर आए थे। जिसके बाद दोनों देशों के बीच संपर्क, व्यापार, कृषि और सीमा सुरक्षा पर सहयोग बढ़ाने को लेकर कई समझौते हुए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने नेपाली समकक्ष के.पी. शर्मा ओली को आश्वस्त किया था कि नई दिल्ली नेपाल की प्राथमिकताओं के अनुसार साझेदारी को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है।

धूपबत्ती और किताब से धनकुबेर बन गया था आसाराम, खड़ा किया 2300 करोड़ का साम्राज्य

दोनों देशों के बीच हुई थे कई समझौते

इसके साथ ही वार्ता के बाद संयुक्त बयान में प्रधानमंत्री ओली ने कहा था कि उनकी सरकार भारत के साथ दोस्ताना रिश्ते मजबूत करने को ज्यादा महत्व देती है। उन्होंने नेपाल की सरकार की मंशा जाहिर करते हुए कहा था कि वह भारत की प्रगति व समृद्धि का लाभ उठाकर आर्थिक बदलाव व विकास लाने के हिमायती हैं और इसी के अनुरूप द्विपक्षीय संबंध विकसित करना चाहते हैं। चीन के साथ नजदीकी रिश्ता रखने वाले व समर्थक के रूप रहे ओली ने कहा था कि वह 'समानता और न्याय के सिद्धांतों' पर आधारित द्विपक्षीय संबंधों को नई बुलंदियों तक ले जाने और 21वीं सदी की वास्तविकताओं के अनुरूप आगे बढ़ने के मकसद से भारत आए हैं।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned