RJD चीफ Lalu Prasad Yadav की अचानक बिगड़ी तबीयत, दिल्ली स्थित एम्स ले जाया गया

RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव तबीयत बिगड़ने के बाद पहुंचे दिल्ली स्थित एम्स, किडनी समेत कई गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं

By: धीरज शर्मा

Published: 25 Aug 2021, 02:04 PM IST

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जनता दल ( RJD ) के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद प्रसाद ( Lalu Prasad Yadav ) की अचानक तबीयत बिगड़ गई। तबीयत बिगड़ने के बाद वे बुधवार को दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ( AIIMS ) पहुंचे।

मिली जानकारी के मुताबिक, एम्स में डाक्टरों ने लालू प्रसाद यादव के स्वास्थ्य की जांच की। बताया जा रहा है कि जांच के दौरान डाक्टरों ने लालू प्रसाद यादव के पहले से ही चल रहे इलाज की कड़ी में कुछ दवाएं बदलीं हैं। इस चेकअप के बाद उन्हें वापस घर भी भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ेंः उद्धव ठाकरे और नारायण राणे: बीते 25 साल से दोनों के बीच है 36 का आंकड़ा, जानिए रंजिश की वजह

कई गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लालू यादव
राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव लंबे समय से कई गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। उन्हें लीवर सोराइसिस समेत किडनी की भी गंभीर समस्या है। पिछले कई महीनों से वे दिल्ली में रहकर ही अपना इलाज करवा रहे हैं।

इस साल जनवरी महीने में राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद यादव की हालत चिंताजनक बन गई थी। वहीं, लालू यादव की हालत देखते हुए उन्हें एयर एंबुलेंस के जरिए दिल्ली स्थित एम्स लाया गया था।

इसके बाद एम्स में कई दिनों तक उनका इलाज चला। तब लालू यादव को एम्स के कार्डियो न्यूरो सेंटर में भर्ती कराया गया था। उनकी हालत को देखते हुए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर एम्स लाया गया था।

लालू यादव शुगर, बीपी के साथ किडनी की समस्या से भी पीड़ित हैं। ऐसे में वह दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में स्वास्थ्य जांच के लिए बुधवार को पहुंचे। बताया जा रहा है कि उनकी तबीयत कुछ नासाज हुई थी, जिसके बाद उन्हें तुरंत एम्स ले जाया गया।

यह भी पढ़ेंः केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बेटे ने कहा- करारा जवाब मिलेगा, वीडियो ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार को दी चेतावनी

वहीं जातिय जनगणना को लेकर लालू यादव ने कहा कि, 'जब मैं सांसद था, तो मैंने अन्य लोगों के साथ मिलकर इसके लिए (जाति आधारित जनगणना) लोकसभा में लड़ाई लड़ी थी। अरुण जेटली ने पहले लिखित आश्वासन दिया था और हम इसे लेकर बहुत आशान्वित हैं। यह जनसंख्या और आर्थिक स्थिति को समझने के लिए किया जाना चाहिए।'

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned