scriptShiv Sena big Setback to Mamata Banerjee says in Saamana Opposition Nee UPA | ममता बनर्जी की मंशा को शिवसेना ने दिया झटका, सामना में बताया- विपक्ष के लिए UPA जरूरी | Patrika News

ममता बनर्जी की मंशा को शिवसेना ने दिया झटका, सामना में बताया- विपक्ष के लिए UPA जरूरी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस चीफ ममता बनर्जी की मंशा को शिवसेना ने बड़ा झटका दिया है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा है कि कांग्रेस मुक्त भारत की कल्पना मोदी और उनकी प्रवृत्ति की सोच वाले दलों को लेकर तो समझ आती है लेकिन बीजेपी विरोधी प्रवृत्ति दल भी ऐसी सोच रखें ये सही नहीं है। विपक्ष को UPA की जरूरत है

नई दिल्ली

Published: December 04, 2021 12:52:50 pm

नई दिल्ली। तृणमूल कांग्रेस ( Trinamool Congress ) प्रमुख और पश्चिम बंगाल ( West Bengal ) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ( Mamata Banerjee ) पिछले कुछ दिनों से एक खास मिशन पर है। इस मिशन के तहत ममता बनर्जा विपक्षी दलों के प्रमुखों से मुलाकात कर रही थी। इस मुलाकात के पीछे ममता की मंशा विपक्ष का चेहरा बनने की थी। लेकिन ममता की इस मंशा को जोर का झकटा लगा है और ये झटका दिया है शिवसेना ने। शिवसेना ( Shivsena ) ने अपने मुखपत्र सामना ( Saamana ) में लिखा है कि, विपक्ष को यूनाइटेड प्रोग्रेसिव अलायंस यानी UPA की जरूरत है।
667.jpg
दरअसल ममता बनर्जी हाल में मुंबई के दौरे पर थी। इस दौरे पर ममता ने शिवसेना और राष्ट्रवाती कांग्रेस पार्टी के प्रमुखों से मुलाकात की। इसके बाद से राजनीतिक गलियारों में चर्चाएं थी कि ममता बनर्जी 2024 में होने वाला आम चुनाव में विपक्ष का चेहरा बनने की तैयारी कर रही हैं।
यह भी पढ़ेँः Gujarat: पूर्व सांसद जगदीश ठाकोर को मिली प्रदेश कांग्रेस की कमान, 9 महीने बाद पार्टी ने लिया बड़ा फैसला

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी को करारी शिकस्त देने के बाद से ही ममता बनर्जी के हौसले बुलंद है। यही नहीं अब वे विपक्ष का चेहरा बनने का सपना भी संजो रही हैं। यही वजह है कि ममता लगातार इस मिशन जमीनी और मुलाकातों के जरिए अंजाम देने में जुटी है।
एक तरफ ममता बनर्जी कांग्रेस समेत अन्य दलों को नेताओं को पार्टी में शामिल कर टीएमसी के विस्तार में जुटी है वहीं दूसरी तरफ वे विपक्ष दलों के प्रमुखों से मुलाकात अपने पक्ष में माहौल बनाने की भी कोशिशें कर रही हैं।
इसी कड़ी में हाल में ममता बनर्जी मुंबई पहुंची और शिवसेना एवं रांकपा प्रमुखों से मुलाकात की। लेकिन इनकी इस कोशिश को शिवसेना ने बड़ा झटका दिया है।

शिवसेना ने मुखपत्र ‘सामना’ (Saamana) में एक लेख में लिखा है ममता बनर्जी के मुंबई (Mumbai) दौरे के कारण विपक्षी दलों (Opposition) की हलचलों में गति आई है।
कम-से-कम शब्दों के हवा के बाण तो छूट रहे हैं। अपने-अपने राज्य और टूटे-फूटे किले संभालने के एक साथ इस पर तो कम-से-कम एकमत होना जरूरी है। इस एकता का नेतृत्व कौन करे यह आगे का मसला है।
सामना में लिखा- पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी बाघिन की तरह लड़ीं और जीतीं। ममता ने मुंबई में आकर राजनैतिक मुलाकात की। ममता की राजनीति काग्रेंस उन्मुख नहीं है। बंगाल से उन्होंने कांग्रेस, वामपंथी और बीजेपी का सफाया कर दिया। यह सच है फिर भी कांग्रेस को राष्ट्रीय राजनीति से दूर रखकर सियासत करना यानी मौजूदा ‘फासिस्ट’ राज की प्रवृत्ति को बल देने जैसा है।
सामना ने एक तरफ ममता को झटका दिया तो दूसरी तरफ कांग्रेस को भी राहत दी। शिवसेना ने सामने में लिखा कि कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो, ऐसा मोदी और उनकी पार्टी को लगना तो समझ में आता है, लेकिन मोदी और उनकी प्रवृत्ति के विरुद्ध लड़नेवालों को भी कांग्रेस खत्म हो, ऐसा लगना यह सबसे गंभीर खतरा है।
पिछले दस वर्षों में कांग्रेस पार्टी का पिछड़ना चिंता का कारण है। फिर भी उतर रही गाड़ी को ऊपर चढ़ने नहीं देना है और कांग्रेस की जगह हमें लेना है यह मंसूबा घातक है।
यह भी पढ़ेँः लोकसभा मे CVC, CBI निदेशक का कार्यकाल बढ़ाने वाला बिल पेश, जानिए विपक्ष ने क्या कहा

कांग्रेस को अपनों से ज्यादा खतरा
सामना में आगे लिखा कि, कांग्रेस को दूसरों के साथ-साथ अपनों से ज्यादा खतरा है। उनके अपने लोग भी उनका गला दबा रहे हैं। इसमें उन्होंने अमरिंदर और गुलाम नबी आजाद जैसे दिग्गज नेताओं का भी जिक्र किया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.