Maharashtra: अजान को लेकर गर्मायी सियासत, शिवसेना नेता के सुझाव पर BJP का पलटवार

  • Maharashtra में अजान को लेकर गर्मायी सियासत
  • शिवसेना नेता ने दिया अजान पर प्रतियोगिता का सुझाव
  • बीजेपी बोली- कांग्रेस के इशारे पर काम कर रही है कांग्रेस

By: धीरज शर्मा

Published: 01 Dec 2020, 02:54 PM IST

नई दिल्ली। महाराष्ट्र ( Maharashtra ) में शिवसेना ( Shivsena )नेता के एक बयान के बाद राजनीति गर्मा गई है। दरअसल शिवसेना के एक नेता ने मस्जिद में होने वाली अजान को मंदिरों में होने वाली आरती की तरह की सुरीली बताया है। यही नहीं इस नेता ने अजान को बढ़ावा देने के मुस्लिम बच्चों में अजान गायन की प्रतियोगिता करवाने की सलाह भी दे डाली है। हालांकि शिवसेना नेता के इस बयान पर बीजेपी नेता की भी कड़ी प्रतिक्रिया आई है।

अजान को लेकर ये बोले पांडुरंग
शिवसेना के दक्षिम मुंबई इकाई के प्रमुख पांडुरंग सकपाल ने कहा है कि उन्हें अजान सुनना अच्छा लगता है। उन्होंने एक वेब पोर्टल को दिए साक्षात्कार में कहा है कि वे जहां रहते वहां समीप ही एक मस्जिद है जहां से अजान सुनाई पड़ती है, अजान का पाठ बहुत अच्छा लगता।

देश में एक हफ्ते में मंडराया दूसरे चक्रवाती तूफान का खतरा, देश के इन राज्यों में मौसम विभाग ने जारी किया रेडल अलर्ट

यही नहीं उन्होंने कहा कि उन्होंने मुस्लिम बच्चों के लिए काम वाले 'MY Foundation' नाम के NGO के पदाधिकारियों से लॉकडाउन के दौरान बच्चों को घर पर रखने के साथ अजान प्रतियोगिता आयोजित करने का सुझाव भी दिया था। हालांकि उन्होंने ये भी कहा था कि ये सिर्फ सुझाव था, किसी तरह का ऐलान या फरमान नहीं।

बीजेपी का तीखा पलटवार
सकपाल के सुझाव पर बीजेपी ने भी तीखा पलटवार किया है। बीजेपी नेता अतुल भातकालकर ने कहा कि शिवसेना ने सड़कों पर 'नमाज' पढ़े जाने का विरोध किया। चुनाव में भी अभियान चलाया था कि कांग्रेस को वोट देने का मतलब आतंकी अजमल कसाब को वोट देना होगा। लेकिन अब अपनी ही कहे से पलहट रही है। शिवसेना खुद कांग्रेस की नीतियों पर चल रही है।

हैदराबाद निगम चुनाव तो बहाना है, जानें कैसे बीजेपी का दो राज्यों के साथ दक्षिण फतह पर निशाना है

शिवसेना नेता बोले- धर्म के चश्मे से ना देखें
मामले के तूल पकड़ने के बाद सकपाल ने अपने बयान को गलत तरीके से लेने की बात कही है। उन्होंने कहा कि हर टिप्पणी को धर्म के चश्मे से कैसे देखा जा सकता है।

वहीं उनके बयान पर विवाद बढ़ते देख शिवसेना के प्रवक्ता और राज्य के परिवहन मंत्री अनिल परब ने पल्ला झाड़ लिया। शिवसेना ने इसे सकपाल का निजी बयान बताया।

BJP
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned