Weather Forecast: देश के इन तीन राज्यों में तूफान की आहट, IMD ने जारी किया रेड अलर्ट

  • Weather Forecast एक हफ्ते में एक और तूफान की आहट
  • बंगाल की खाड़ी में बन रहा निम्न दबाव के गहरे दबाव में बदले की संभावना
  • तूफान के चलते कई इलाकों में जारी हुई रेड अलर्ट

नई दिल्ली। तमिलनाडु में आए चक्रवाती तूफान निवार ( Cyclone Nivar )से अभी लोग उबरे ही नहीं थे कि एक और तूफान की आहट ने देश के तीन राज्यों की चिंता बढ़ा दी है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ( IMD ) की ओर से आने वाले 48 घंटों में बड़े तूफान की आशंका व्यक्त की गई है। तीन राज्यों में इस तूफान के पड़ने वाले असर के साथ ही आईएमडी ने भारी बारिश को लेकर रेड अलर्ट ( Red Alert ) भी जारी किया है।

मौसम विभाग की ओर से अगले तीन से चार दिनों में केरल (Kerala) में भारी बारिश की आशंका जताई गई है। वहीं तिरुवनंतपुरम के साथ कोल्लम्, पथनमथित्ता, अलापुझा और इडुक्की जिले के लिए रेड के साथ-साथ ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है।

किसान आंदोलन के बीच केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने उठाया बड़ा कदम, जानें क्यों अहम है 1 दिसंबर का दिन

मछुआरों को भी दी गई सलाह
तूफान की आहट और भारी बारिश की संभावना के चलते मौसम विभाग की ओर से मछुआरों को भी 30 नवंबर की रात से ही समुद्र में ना जाने की सलाह दी गई है।

एक हफ्ते में दूसरे तूफान का खतरा
आईएमडी के मुताबिक तमिलनाडु में आए चक्रवाती तूफान निवार के एक हफ्ते के अंदर ही दूसरे तूफान का खतरा मंडरा रहा है। दरअसल बंगाल की खाड़ी में बन रहे निम्म दबाव के गहरे दबाव में तब्दील होने के चलते ये हालात बन रहे हैं।

मौसम विभाग की मानें तो यह तूफान दो दिसंबर को श्रीलंका के समुद्र तट को पार करेगा और इससे तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक में भारी बारिश होने का पूर्वानुमान है।

यही वजह है कि विभाग ने खास तौर पर तमिलनाडु और केरल के दक्षिणी इलाकों में 'रेड-कलर कोडेड' अलर्ट जारी किया है। यानी इन राज्यों में भारी से भारी बारिश के आसार बने हुए हैं।

श्रीलंका के तटीय क्षेत्रों में जानें पर रोक
मौसम विभाग ने दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी क्षेत्र में और दो दिसंबर से अगले 24 घंटे के लिए पूर्वी श्रीलंका के तटीय क्षेत्रों, कोमोरिन क्षेत्र, मन्नार की खाड़ी और तमिलनाडु-केरल के तटों के पास जाने पर रोक लगा दी है।

इस दिन पश्चिमी इलाकों में बढ़ सकता है तूफान
आईएमडी ने कहा है कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र अगले 24 घंटे में और गहरे दबाव में बदलने की संभावना है। ऐसे में यह चक्रवाती तूफान का आकार भी ले सकता है। यह तीन दिसंबर की सुबह करीब के पश्चिमी इलाकों की ओर बढ़ सकता है और उसके बाद कोमोरिन क्षेत्र में पहुंच सकता है।

कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी ने इस दिन बुलाई सर्वदलीय बैठक, कोविड के हालातों से लेकर वैक्सीन वितरण को लेकर हो सकती अहम चर्चा

'निवार' ने मचाया था कहर
आपको बता दें कि पिछले सप्ताह 'बहुत भीषण चक्रवाती तूफान' निवार तमिलनाडु के तट से टकराया था। राज्य में सुरक्षा उपायों के तहत करीब ढाई लाख लोगों को आश्रय शिविरों में ठहराया गया। खास बात यह है कि तूफान से किसी की जान जाने की कोई खबर नहीं रही।

IMD alert weather update Weather forecast
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned