दो पत्नियों का पति अपने कमरे में जिंदा जला, मौत के बाद दूसरी पत्नी फरार, पहली पत्नी तीन दिन पहले ही जा चुकी है मायके

कोतरारोड थाना क्षेत्र के ग्राम कोतरा का मामला, मर्ग कायम

By: Shiv Singh

Published: 16 May 2018, 06:05 PM IST

रायगढ़। कोतरारोड थाना क्षेत्र के ग्राम कोतरा में दो पत्नियों का २७ वर्षीय पति अपने कमरे में जिंदा जल गया। जिससे उनकी मौत हो गई। घटना के बाद उसकी दूसरी पत्नी फरार है। जबकि पहली पत्नी तीन दिन पहले ही अपने मायके चली गई थी। परिजनों की सूचना पर पहुंची कोतरारोड पुलिस ने शव को कब्जे मेंं लेकर पीएम के लिए भेजा। वहींं मर्ग कायम कर मामले की जांच कर रही है। पुलिस को इस संदिग्ध मौत के पीछे की गुत्थी सुलझाने ूमें मृतक की दूसरी पत्नी की तलाश है। जो घटना के बाद से ही फरार है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार २७ वर्षीय दिलीप कुमार सारथी ने कम उम्र्र में ही दो शादियां कर ली थी। दोनों पत्नियां, पति के साथ ससुराल में ही रहती थी। मंगलवार की रात दिलीप, खाना खाकर अपने कमरे मेंं सोने चला गया। उसके साथ उसकी दूसरी पत्नी भी थी। जबकि पहली पत्नी तीन दिन पहले ही मायके गई हुई थी।

Read More : OMG! सो रहा था पूरा परिवार, अचानक तेज रफ्तार ट्रेलर ग्रामीण के घर में घुसा, चींख पुकार के साथ मची अफरा-तफरी

तड़के करीब चार बजे जब दिलीप के कमरे से आग के साथ धुंआ बाहर आया तो उसकी मां दौड़ते हुए कमरे में पहुंची। जहां अपने बेटे को जमीन पर जले हुए अवस्था में पाया। जब उसके उसकी दूसरी पत्नी की आवाज लगा कर खोजबीन की तो वो नहीं थी। परेशान मां ने शोर मचा कर परिवार के अन्य सदस्यों को उठाया। उसके बाद मामले की जानकारी कोतरारोड पुलिस को दी गई। जब कोतरारोड पुलिस घटना स्थल पर पहुंची तो युवक की मौत हो चुकी थी। वहीं उसके शरीर के कुछ हिस्से से धुंए निकल रहे थे।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए अस्पताल भेजा। परिजनों से पूछताछ के बाद पुलिस ने बताया कि दोनों पत्नियां, एक साथ ही ससुराल में रहती थी। उनके बीच किसी प्रकार के विवाद की बात से परिजन इंकार भी कर रहे हैं। ऐसे में, पति की संदिग्ध परिस्थिति में कमरे अंदर जली हुई लाश का मिलना व दूसरी पत्नी के फरार होना, कई सवालों को जन्म दे रहा है। पुलिस मर्ग कायम कर हर बिंदू को ध्यान में रख कर मामले की जांच कर रही है।

मृतक के संघर्ष के नहीं मिले निशान
पुलिस की प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई कि मृतक को जिंदा नहीं जलाया गया है। अगर युवक को जिंदा जलाया गया होता तो उसके द्वारा बचाव को लेकर संघर्ष की कवायद की जाती। जिससे घटना स्थल पर कोई निशान मिलते। पर घटना स्थल पर ऐसे किसी प्रकार के संघर्ष व छटपटाहट के सबूत नहीं मिले हैं। हालांकि इसकी पुष्टि पीएम रिपोर्ट में होने की बात कही जा रही है।

बनसिया पावर ग्रीड में करता था काम
परिजनों ने बताया कि मृतक दिलीप सारथी, बनसिया पावर ग्र्रीड में काम करता था। ऐसे में, पुलिस परिजनों के अलावा उसके कार्यस्थल के सहयोगियों से भी पूछताछ करेगी। जिससे उसके रहन-सहन व परिवार के लोगों के व्यवहार की जानकारी मिल सके। पुलिस इस बिंदू को विवेचना का एक अहम अंग बता रही है।

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned