मौसी को आग की लपटों से घिरा देख चींखने लगा मासूम, परीक्षा की तैयारी में जुटी छात्रा की जल जाने से मौत

बरमकेला थाना क्षेत्र के गोबरसिंघा में हुई दिल दहला देने वाली दुर्घटना, शार्टसर्किट बताई जा रही आग लगने की वजह

By: Vasudev Yadav

Published: 19 Mar 2020, 02:24 PM IST

रायगढ़. बरमकेला थाना क्षेत्र के गोबरसिंघा में एक दिल दहला देने वाली दुर्घटना घटित हो गई। परीक्षा की तैयारी में जुटी 20 वर्षीय छात्रा को देर रात नींद आ गई। जब वह नींद से जागी तो खुद को आग की लपटों से घिरी पाई और कुछ ही देर में ही जिंदा जल जाने से मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि बुधवार तड़के शॉर्ट सर्किट से आग लगने से यह भयावह हादसा हुआ है। इस घटना की जानकारी मिलते ही गांव सहित आसपास के क्षेत्रों में सनसनी फैल गई। घटना की सूचना पर पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मृतका शीला रात्रे (20) गोबरसिंघा डीपापारा की रहने वाली थी। वहीं वह बरमकेला कॉलेज में बीएससी फाइनल की छात्रा थी। वर्तमान में उसका एक्जाम चल रहा था।

Read More: अजब-गजब: जंगल को तस्करों से बचाने के लिए छोड़ दिए हजारो जहरीले सांप, पिछले तीन साल में नहीं हुई पेड़ की चोरी

पुलिस ने बताया कि मृतका के घर वालों ने घर के आंगन में एक बड़ा सा शौचालय बनवाया है, लेकिन उसका अभी तक उपयोग नहीं किया जा सका है। वर्तमान में छात्रा के परिजन अपने घर को तोड़कर उसका पुन: निर्माण करा रहे हैं। ऐसे में घर के सारे सामान कपड़ा, बर्तन, खाद्य सामग्री व घरेलू सामान को उक्त शौचालय में रख दिया गया है। वहीं शौचालय में बिजली की व्यवस्था होने से छात्रा भी वहीं खाट लगाकर सोती थी। साथ ही अपने परीक्षा की तैयारी करती थी। उसके माता-पिता घर के आंगन के ही एक कोने में बांस-बल्ली का झोपड़ीनुमा मकान तैयार कर उसमें तीरपाल छा कर रहते हैं। जबकि छात्रा की भैया-भाभी उसी परिसर में एक मिट्टी के घर में रहते हैं। मंगलवार की रात छात्रा खान खाकर अपनी पुस्तक लेकर अपने खाट में लेटे-लेटे पढ़ाई कर रही थी। देर रात उसे नींद आ गई।

बुधवार तड़के मृतका की मां कमर दर्द होने से वैध के पास झाड़-फूंक कराने गई थी। वहीं घर के कुछ सदस्य शौच के लिए बाहर गए हुए थे। इसी दौरान मृतका के बहन की आठ वर्षीय बेटे जयंत ने देखा कि उसकी मौसी के कमरे से धुआं निकल रहा है। देखते ही देखते आग की लपटें निकलने लगी। मासूम जोर-जोर से चिल्लाने लगा। घटना की जानकारी मामा को जाकर दी। लेकिन तब तक लेट हो चुका था। छात्रा आग की लपटों से घिर गई थी। कुछ देर बाद घर के बाकी लोग भी आ गए और घर अंदर जाकर देखे तो शीला सौ फीसदी जल चुकी थी। वहीं उसका शव खाट के नीचे पड़ा था। घर का पूरा सामान जलकर खाक हो गया था। घटना की सूचना पुलिस को दी गई।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned