दरूहा बना के मरई ल बंद करव

सराबबंदी के अपन वादा ल जल्दी से जल्दी निभाय बर चाही

By: Gulal Verma

Published: 10 Jan 2019, 06:56 PM IST

जु न्ना सरकार ह छत्तीसगढ़ के सिधवा जनता ल दारू पीया-पीया के निठल्ला अउ दरूहा बना के मारत रिहिस। वोहा अपन चुनावी वायदा म सराबबन्दी करे के बात कहे रहिस। फेर कभु नइ करिस। इहां के जनता ल दारू पियाय अउ जीव ल ले बर अड़े रिहिस। छत्तीसगढ़ म दारू दुकान ल पहली नीलामी म लेके कोचियामन चलावत रिहिन। तहां ले सरकार ह बीड़ा उठाव लिस। छत्तीसगढ़ म सात सौ ले ज्यादा दारू दुकान हे। हर साल 1200 लाख लीटर दारू बिकथे। एकर ले 3900 करोड़ रुपिया के कारोबार होथे।
जुन्ना सरकार ह एक कोती हेलमेट ल दुघरटना के बचाव बर जरूरी बतावव ऐहा बने बात रिहिस। फेर, पुलिसमन ऐला लेके पइसा वसूली अभियान चलावत रिहिन। सबले ज्यादा दुरघटना दारू पी के गाड़ी चलाय ले होथे। दारू ह तो सब दुरघटना अउ अपराध के कारन आय। तभो ले जुन्ना सरकार ह दारू बेचे बर काबर अड़े रिहिस। तभे तो छत्तीसगढ़ ल दारू अउ दरूहा के नांव ले देसभर म अलग पहिचान मिल गे हे। अब नवा सरकार के जिम्मेदारी हे ए दाग ल मेटाय के। सराबबंदी के अपन वादा ल जल्दी से जल्दी निभाय बर चाही।

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned