scriptChhattisgarh New CM: Chief Minister's face will be finalized today | Chhattisgarh New CM : मुख्यमंत्री का चेहरा आज होगा फाइनल ! दिल्ली से आएंगे 3 पर्यवेक्षक... राम मंदिर के सामने हो सकता है शपथ ग्रहण | Patrika News

Chhattisgarh New CM : मुख्यमंत्री का चेहरा आज होगा फाइनल ! दिल्ली से आएंगे 3 पर्यवेक्षक... राम मंदिर के सामने हो सकता है शपथ ग्रहण

locationरायपुरPublished: Dec 09, 2023 12:07:45 pm

Submitted by:

Kanakdurga jha

Chhattisgarh News CM : शीर्ष नेतृत्व ने मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर लगाने के विधायकों से चर्चा करने के लिए केंद्रीय राज्यमंत्री अर्जुन मुंडा, सर्वानंद सोनोवाल और पार्टी महासचिव दुष्यंत कुमार गौतम पर्यवेक्षक नियुक्त किया है।

chhattisgarh_new_cm.jpg
New CM In Chhattisgarh : भाजपा में मुख्यमंत्री के नाम को फाइनल करने दिल्ली से तीनों पर्यवेक्षक शनिवार को रायपुर आएंगे। शीर्ष नेतृत्व ने मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर लगाने के विधायकों से चर्चा करने के लिए केंद्रीय राज्यमंत्री अर्जुन मुंडा, सर्वानंद सोनोवाल और पार्टी महासचिव दुष्यंत कुमार गौतम पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। सूत्र बताते हैं कि तीनों दिल्ली से लिफाफे में लाए गए फाइनल नाम को लेकर विधायकों से रायशुमारी करेंगे।
यह भी पढ़ें

कर्ज के बोझ तले दबे किसान.. चुनावी वर्ष में 177 करोड़ रुपए से अधिक की हुई बढ़ोतरी, अब धान बेचकर चुकाना होगा लोन



इसके बाद विधायकों की सहमति से सीएम के नाम पर मुहर लगाई जाएगी। हो सकता है इसके बाद मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान कर दें। लेकिन इसकी संभावना कम हैं। तीनों पर्यवेक्षक विधायक दल की बैठक में तय किए मुख्यमंत्री के नाम की रिपोर्ट शीर्ष नेतृत्व को देंगे। इसके बाद दिल्ली से मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा की जाएगी। दूसरी ओर मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण कार्यक्रम को लेकर भी भाजपा में अभी से कवायद शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण श्रीराम मंदिर के सामने नौ एकड़ ग्राउंड पर या फिर पुलिस लाइन के ग्राउंड पर करने पर विचार किया जा रहा है। तीसरा विकल्प इंडोर स्टेडियम है।
यह भी पढ़ें

हैवानियत की हदें पार किया शिक्षक... टॉयलेट गंदा करने पर 25 बच्चियों को खौलते तेल से जलाया, दहशत में छात्र

छत्तीसगढ़ में अब सीएम के तीन दावेदार बताए जा रहे हैं। पहला पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, दूसरा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव और तीसरा ओपी चौधरी हैं। यह भी चर्चा है कि आदिवासी वर्ग से भाजपा उपमुख्यमंत्री भी बना सकती है, क्योंकि लोकसभा चुनाव में इसका फायदा भी मिलेगा। ओबीसी सीएम बनाने से इस वर्ग को साधा जा सकता है।
ये इसलिए बन सकते हैं सीएम

ओपी चौधरी

पूर्व आईएएस और युवा हैं। प्रशासनिक अनुभव हैं। कई जिलों के कलेक्टर रह चुके हैं।

डॉ. रमन सिंह

15 साल तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। साथ ही सत्ता और संगठन को तालमेल रखकर सरकार चलाने का अनुभव है।
अरुण साव

प्रदेश अध्यक्ष है। ओबीसी वर्ग का बड़ा चेहरा है। सांसद रह चुके हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो