शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल में दाखिले के लिए होड़, 1 हजार 750 ने कराया पंजीयन

पालक शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल में अपने बच्चों का प्रवेश दिलाने के लिए भरसक प्रयास कर रहे है। सबसे ज्यादा पंजीयन बीपी तिवारी स्कूल में 700 पालकों ने अपने बच्चों का पंजीयन कराया है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 29 Jun 2020, 07:20 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार के शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय (अंग्रेजी माध्यम) में प्रवेश के लिए होड़ मची है। पिछले 8 दिनों के अंदर तीनों स्कूलों के लिए 1 हजार 750 पंजीयन हुए है। शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल सरकार द्वारा खोले जाने से अपने बच्चों को उज्जवल भविष्य की चाह देने वाले पालकों को एक और विकल्प मिल गया है। पालक शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल में अपने बच्चों का प्रवेश दिलाने के लिए भरसक प्रयास कर रहे है। सबसे ज्यादा पंजीयन बीपी तिवारी स्कूल में 700 पालकों ने अपने बच्चों का पंजीयन कराया है।

प्रदेश में 40 स्कूलों का संचालन

राज्य में कुल 40 विद्यालयों का संचालन किया जा रहा है। जिनमें तीन राजधानी में हैं। जिन्हें अंग्रेजी माध्यम की पढ़ाई के लिए उन्नत किया गया है। कक्षा एक से 12वीं तक की पढ़ाई होगी। जिसमें प्रवेश के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जमा करने अंतिम तिथि 30 जून है। इसके पहले ही बड़ी संख्या में पंजीयन के साथ आवेदन जमा करने अभिभावक पहुंच रहे हैं। प्रत्येक कक्षा में 40 सीट है। अभिभावकों में इस बात को लेकर सबसे अधिक खुशी है कि पहली बार सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में बच्चों का भविष्य संवारने अच्छी पहल की है।

प्रवेश के लिए प्राथमिकता

प्रवेश के लिए विभिन्न प्रक्रियाओं के बीच सबसे महत्वपूर्ण प्राथमिक शाला के लिए एक किलोमीटर के दायरे में आने वाले बच्चों को पहले प्राथमिकता दी जाएगी। मिडिल स्कूल के लिए तीन, हाई स्कूल के लिए पांच एवं हायर सेकेंडरी के लिए सात किलोमीटर तय किया गया है। स्कूलों में प्रवेश से पहले सारी तैयारी चल रही है। इंफ्रास्ट्रक्चर के मामले में अधिकारियों की कमजोरी झलक रही है। भूपेश सरकार की महत्वकांक्षी योजना पर ज्यादा सक्रिय नहीं दिख रहे हैं।

शिक्षकों की भर्ती का निकलेगा विज्ञापन

प्रदेश के कुछ जिलों में शासकीय अंग्रेजी मीडियम स्कूल के लिए विज्ञापन जारी कर दिया गया है। राजधानी रायपुर में 1 जुलाई तक शिक्षकों की भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया जाएगा। शिक्षकों की भर्ती करने के बाद उन्हें ऑनलाइन पढ़ाने की ट्रेनिंग की जाएगी। विभागीय अधिकारियों की मानें तो 15 जुलाई से छात्रों को वर्चुअल क्लास में शिक्षा दी जाएगी। 15 जुलाई से पहले पूर्व की सभी क्रियाविधी को पूरा कर लिया जाएगा।


शिक्षकों की भर्ती के लिए विज्ञापन दो दिन बाद जारी किया जाएगा। शिक्षकों की भर्ती करने के बाद उन्हें ऑनलाइन शिक्षा देने की ट्रेनिंग दी जाएगी। 15 जुलाई से वर्चुअल क्लास के माध्यम से नव प्रवेशित छात्रों को पढ़ाया जाएगा।

जीआर चंद्राकर, जिला शिक्षा अधिकारी
रायपुर।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned