25 लाख लेने के बाद आशिक बना रहा था आत्महत्या के लिए दबाव, युवती ने की खुदकुशी तो शव घर में बंद कर हुआ फरार

बोरियाकला स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के मकान में 6 फरवरी को युवती की सड़ी-गली लाश सेजबहार पुलिस को मिली थी। विवेचना के दौरान शव की शिनाख्त सरगुजा निवासी पबीना बडा के रूप में हुई थी। विवेचना के दौरान पुलिसकर्मियों को यह भी पता चला कि पबीना सारंगगढ़ निवासी वीरेंद्र पटेल के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहती थी।

रायपुर. राजधानी के बोरियाकला हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में युवती की सड़ी-गली लाश मिलने की गुत्थी सेजबहार पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस ने मामले में युवती के प्रेमी वीरेंद्र पटेल को सरसीवा से गिरफ्तार किया है। वीरेंद्र पर आरोप है कि उसने युवती को आत्महत्या के लिए उकसाया और फिर साक्ष्य छिपाने की कोशिश की। छात्रा और आरोपी दोनों चार साल पहले रावतपुरा कॉलेज में पढ़ते थे।

प्रेमिका को अपने घर ले जाने की करने लगा जिद, नहीं मानी तो उसके सामने ही बिजली के तार से लगा ली फांसी

बोरियाकला स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के मकान में 6 फरवरी को युवती की सड़ी-गली लाश सेजबहार पुलिस को मिली थी। विवेचना के दौरान शव की शिनाख्त सरगुजा निवासी पबीना बडा के रूप में हुई थी। विवेचना के दौरान पुलिसकर्मियों को यह भी पता चला कि पबीना सारंगगढ़ निवासी वीरेंद्र पटेल के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहती थी। वीरेंद्र ने प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी का बहाना करके सेजबहार में किराए का मकान लिया था।

मकान मालिक ने सबसे पहले देखा था शव

वीरेंद्र पटेल द्वारा घर का किराया नहीं देने पर उसका मकान मालिक दो माह से लगातार फोन कर रहा था। वीरेंद्र फोन नहीं उठा रहा था, इसलिए दूसरे किराएदार को लेकर मकान मालिक सेजबहार स्थित अपने घर पहुंचा। घर पर ताला लगा था और अंदर से बदबू आ रही थी। इस पर वह ताला तोड़कर अंदर गया तो युवती का शव पड़ा हुआ था। सूचना पर पुलिस पहुंची तो दो फांसी के फंदे अलग-अलग कमरे में मिले थे। एक फंदा कटा था और दूसरा पूरा लटका हुआ था।

6 जनवरी को युवती ने की थी आत्महत्या

पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने ६ जनवरी को पबीना द्वारा आत्महत्या करने की बात बताई है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि वो 4 माह पहले ही घटना वाले मकान में शिफ्ट हुए थे। पबीना अपने घर से पैसा मंगाती थी। करीब 25 लाख रुपए वह अपने घर वालों से मांग चुकी थी। 6 माह पहले उसके माता पिता रायपुर आए तो उन्हें रिश्ते और पैसों की हकीकत के बारे में पता चला। परिजनों ने उसको साथ चलने के लिए कहा तो वो नहीं मानी। पबीना की मनमानी पर परिजनों ने पैसा देने बंद कर दिया तो आर्थिक तंगी की वजह से दोनों का विवाद होने लगा। घर चलाने के लिए कर्जा लिया तो 6 जनवरी को दोबारा झगड़ा हुआ। झगड़ा होने पर वो घर से बाहर चला गया और रात 11 बजे घर लौटा तो पबीना का शव कमरे में लटका हुआ था।

खुद को बचाने खुदकुशी का नाटक

पबीना का शव फंदे में लटका देखकर घर पहुंचे वीरेंद्र ने चाकू से रस्सी काटकर उसका शव नीेचे उतारा और फंदा निकालकर दूसरे कमरे में छिपा दिया। अपने आप को बचाने के लिए दूसरे कमरे के पंखे में गमछा बांधकर खुदकुशी करने की कोशिश को स्वरूप दिया, और फिर बाहर से ताला लगाकर फरार हो गया। बीच-बीच मे दो-तीन बार वह कालोनी आकर दोस्त और गवाहों से पवीना के बारे में जानकारी लेकर चला जाता था।


युवती के पाटर्नर को आत्महत्या के लिए उकसाने और साक्ष्य छिपाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी ने पैसों के लिए युवती पर दबाव बनाया और युवती द्वारा आत्महत्या करने पर शव छिपाकर फरार हो गया था। आरोपी से पूछताछ की जा रही है।

आरके पांडेय, निरीक्षक,सेजबहार

ये भी पढ़ें: नाना अपनी छठवीं में पढ़ने वाले नातिन को 6 महीने से बना रहा था हवस का शिकार, पेट में दर्द की शिकायत के बाद हुआ खुलासा

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned