दूसरी बार फिर खरीदी केन्द्र पर लगी आग

इन दिनों शहर सहित जिले भर में आगजनी की घटनाएं तेजी से बढ़ रही है।

By: chandan singh rajput

Published: 01 May 2019, 02:04 AM IST

रायसेन. इन दिनों शहर सहित जिले भर में आगजनी की घटनाएं तेजी से बढ़ रही है। सप्ताह में हर दिन कहीं न कहीं पर आग लगने की घटना हो रही। कभी खेतों की नरवाई से नुकसान पहुंच रहा तो तो कभी शाट सर्किट आदि कारणों से आग लग रही। ऐसे ही मंगलवार शाम को शहर में दशहरा मैदान स्थित खरीदी केन्द्र पर अचानक आग लग गई।
परिवहन के लिए रखे गेहूं की बोरियों के बीच आग पकड़ ली। जिससे करीब चार सौ बोरी गेहूं खराब हो गया। तत्काल फायर बिग्रेड को सूचना दी गई।

दमकल ने आकर आग बुझाई, नहीं तो आग पूरे खरीदी केन्द्र पर फैल सकती थी, जिससे नुकसान भी ज्यादा होता। बताया जा रहा है कि शाट सर्किट के कारण आग लगी है। गौरतलब है कि गेहूं की बोरियों के बीच से ही बिजली की लाइन डाली गई है।

दूसरी बार लगी आग
इससे पहले करीब 20 दिन पहले भी दशहरा मैदान खरीदी केन्द्र पर आग लग चुकी है। तब भी जिम्मेदारों ने आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया। उस दौरान भी गेहूं की बोरियों के बीच से बिजली के तार निकले थे। मगर जिम्मेदारों ने व्यवस्था सुधारना जरूरी नहीं समझा और बिजली लाइन के नजदीक की गेहूं का स्टॉक किया गया।

गेहंू के परिवहन की रफ्तार धीमी
शहर सहित जिले भर के खरीदी केन्द्रों में तुलाई और खरीदी के बीच निरंतर अंतर बढ़ रहा है। प्रतिदिन तुलाई अपनी गति से की जा रही है, लेकिन परिवहन की रफ्तार धीमी चल रही, जिससे हजारों क्विंटल गेहूं परिवहन के इंतजार में खुले मैदान में खरीदी केन्द्रों पर रखा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार दशहरा मैदान खरीदी केन्द्र पर ही करीब 18 हजार क्विंटल गेहूं परिहवन के लिए रखा है।

बनखेड़ी सोसाइट के प्रबंधक और सहकारिता कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष ज्योतिचंद नामदेव ने बताया कि ट्रांसपोर्टर द्वारा नियमित रूप से वाहन नहीं भेजे जा रहे। बनखेड़ी सोसाइटी के तहत खरगावली केेन्द्र पर १२१५० क्विंटल, नकतरा में ५००० क्विंटल और चांदनगोड़ा में तीन हजार क्विंटल गेहूं रखा है।

chandan singh rajput
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned