ऑनलाइन 'पढ़ई तुंहर दुवारÓ से बच्चें हो रहे लाभान्वित, पालकों ने भी सराहा

वेब पोर्टल के माध्यम से बच्चे घर बैठे ई क्लास के जरिए कर रहे शिक्षा ग्रहण

By: Nakul Sinha

Published: 30 May 2020, 06:15 AM IST

राजनांदगांव / उपरवाह. देश में कोरोना संक्रमण के कारण सभी स्कूल और कॉलेज बंद है जिसके कारण बच्चों की पढ़ाई का प्रतिदिन नुकसान हो रहा है। बच्चों की इस नुकसान की भरपाई के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नया वेब पोर्टल की शुरुआत किया है। 'पढ़ई तुंहर दुवारÓ इस वेब पोर्टल के माध्यम से बच्चे घर बैठे ई क्लास के जरिए शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। इस पोर्टल में पढ़ई से संबंधित विभिन्न वीडियो, होमवर्क, खेल-खेल में पढ़ई एवं अन्य ज्ञानवर्धक सामग्री मौजूद है। शासन की इस महत्वपूर्ण योजना को सफल करने के लिए पूरा शिक्षा विभाग लगा हुआ है।
इसी कड़ी में विकासखंड राजनांदगांव के सभी 22 संकुल के अंतर्गत संचालित स्कूलों में कोरोना संक्रमण के दौरान ऑनलाइन पढ़ाई से विद्यार्थी लाभांवित हो रहे हैं। सबसे पहले बीईओ पंचभावे, एबीईओ श्रीनिवास मिश्रा, एबीईओ भारती आहूजा आर्य ने वेब एक्स ब्वॉयफ्रेंड से मीटिंग लेकर सभी समन्वयक को दिशा निर्देश और मार्गदर्शन देकर ऑनलाइन पढ़ाई के बारे में बताया। उसके बाद समन्वयक के सहयोग से सभी शालाओं के शिक्षक व्हाट्सएप और वेब एक्स के माध्यम से ऑनलाइन क्लास ले रहे है। संकुल समन्वयक मिलन कुमार साहू ने बताया कि सभी शिक्षकों के द्वारा स्कूलवार व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर प्रतिदिन गृहकार्य कार्य दिया जा रहा है। बच्चे हल करके पुन: उसे ग्रुप में भेज रहे हैं जिसे शिक्षक जांच कर रहे है। ऑनलाइन पढ़ाई की कई पालक सराहना कर रहे है। कोरोना के इस समय में संक्रमण का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ गया है। ऐसे में बच्चे घर पर ही रहकर ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं जिनसे उन्हें संक्रमण का खतरा बिल्कुल भी नहीं है। साथ ही भीषण गर्मी और ग्रीष्मावकाश में बच्चे घर में ही रह कर अपने समय का सदुपयोग कर रहे हैं। यह जानकारी उमेश टंडन ने दी।

संकुल के सभी स्कूल व शिक्षक वेब एक्स से जुड़े
नया ढाबा के संकुल समन्वयक सुरेश जैन ने बताया कि प्रतिदिन सभी शिक्षकों से बच्चों को गृह कार्य देकर उसका रिकार्ड डायरी में रखने कहा गया है। सभी शिक्षक वेब एक्स से जुड़ चुके है। संकुल समन्वयक रेंगाकठेरा जीएम सिद्दीकी ने बताया कि शिक्षक वेबैक्स मीटिंग ऐप में व्हाइट बोर्ड, स्क्रीन शेयर, फोटो शेयर का प्रयोग करते हुए ऑनलाइन अध्यापन कार्य प्रारंभ कर दिए हैं तथा रूम टू रीड से प्राप्त ई लर्निंग मटेरियल, बोलो ऐप, राज्य से प्राप्त स्टडी एट होम के तहत कक्षा एक से आठ तक के प्राप्त सामग्री को बच्चे हल कर शिक्षकों को व्हाट्सएप के माध्यम से भेज रहे हैं। संकुल के सभी स्कूलों में वर्चुअल स्कूल का गठन किया गया है तथा सभी शिक्षकों का पंजीयन सीजी स्कूल इनमें पूर्ण किया जा चुका है किंतु कुछ शिक्षकों का पंजीयन अपंजीकृत में दिखा रहा है जिसे सीजीस्कूल डॉट इन के मीनू, शिक्षक के कार्य, शिक्षक प्रोफाइल संशोधन में जाकर त्रुटि सुधार के लिए निर्देशित किया गया है।

Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned