कोरोना के बढ़ते मरीजों ने लगाया शादियों पर ग्रहण, बिना अनुमति निकली बारात तो देना पड़ेगा जुर्माना

कलेक्टर वर्मा ने कहा कि शादी, रैली, सांस्कृतिक आयोजन या अन्य कार्यक्रमों के लिए अनुमति लेना अनिवार्य है। कार्यक्रमों में अधिक भीड़ होने पर अर्थदण्ड लगाने के निर्देश एसडीएम को दिए।

By: Dakshi Sahu

Published: 25 Feb 2021, 12:19 PM IST

राजनांदगांव. राज्य में कोरोना के नए मामले तेजी से बढ़ते हुए देखकर राजनांदगांव कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने बुधवार को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में कोविड-19 के रोकथाम और प्रोटोकॉल का पालन करने के संबंध में पुलिस प्रशासन, नगर निगम तथा राजस्व अधिकारियों की बैठक ली। कलेक्टर वर्मा ने कहा कि राजनांदगांव जिला महाराष्ट्र सीमा से लगा हुआ है। इसलिए यहां अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने सीमा क्षेत्रों में निगरानी बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर वर्मा ने कहा कि नगर निगम क्षेत्र में कोविड-19 के केस कम हुए थे लेकिन लापरवाही के कारण केस में वृद्धि हो रही है। दुकानों तथा बाजारों में अधिक भीड़ की स्थिति होती है और मास्क नहीं लगाया जा रहा है। कलेक्टर वर्मा ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि दुकानदारों और लोगों द्वारा कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया जा रहा है। उन पर चालानी कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग के अधिकारी चौक-चौराहों पर जांच करें। दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों का कान्टेक्ट ट्रेसिंग कर निगरानी रखी जाए। रेलवे स्टेशन, ग्रामीण क्षेत्रों एवं नगरीय निकाय में कड़ी निगरानी रखने के निर्देश दिए।

शादी के लिए अनुमति लेना किया अनिवार्य
कलेक्टर वर्मा ने कहा कि शादी, रैली, सांस्कृतिक आयोजन या अन्य कार्यक्रमों के लिए अनुमति लेना अनिवार्य है। कार्यक्रमों में अधिक भीड़ होने पर अर्थदण्ड लगाने के निर्देश एसडीएम को दिए। शहर में प्रवेश के सभी रास्तों में जांच के निर्देश भी जारी किया गया। महाराष्ट्र में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे में एक बार फिर बागनदी और बोरतलाव में सीमा पर लोगों की स्क्रिनिंग शुरु कर दी गई है। पहले दिन करीब 3 सौ गाडिय़ों को रोककर महाराष्ट्र से राज्य में प्रवेश करने वाले लोगों की थर्मल स्कैनिंग की गई और उनकी जानकारी दर्ज की गई। सीएमएचओ डॉ. मिथलेश चौधरी ने बताया कि किसी भी यात्री में कोरोना के लक्षण नहीं मिले हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना के लक्षण पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति की कोरोना जांच की जाएगी।

ये जरूर कराएं
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने कहा कि कोरोना का नया रूप और भी खतरनाक है। इससे बचने के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल पालन करना, मास्क लगाना, सोशल डिस्टेसिंग और समय-समय पर हाथों को सेनेटाईज करते रहे। सर्दी, खांसी, बुखार के लक्षण दिखाई देने पर जांच जरूर कराएं। उन्होंने कहा कि समय पर कोविड-19 की पहचान होने और इलाज मिलने पर कोरोना को दूर किया जा सकता है।

coronavirus Coronavirus Deaths Coronavirus in india
Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned