केंद्रीय मंत्री Giriraj Singh के बयान से भड़के Azam Khan ने इन्हें फांसी देने की कर दी मांग !

केंद्रीय मंत्री Giriraj Singh के बयान से भड़के Azam Khan ने इन्हें फांसी देने की कर दी मांग !

Ashutosh Pathak | Updated: 11 Jul 2019, 02:48:17 PM (IST) Rampur, Rampur, Uttar Pradesh, India

  • Giriraj Singh के बयान पर Azam Khan का पलटवार
  • हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए समान बच्चों के कानून पर किया तंज
  • 'दो-तीन से ज्यादा बच्चे वाले पति-पत्नी को फांसी दे देना चाहिए'

रामपुर। आज विश्‍व जनसंख्‍या दिवस ( World Population day ) है और बढ़ती जनसंख्या को लेकर बिहार के बेगूसराय से भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) के सांसद गिरिरज सिंह ( Giriraj Singh ) ने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि देश में हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए दो बच्चों का नियम होना चाहिए। उनके इस बयान पर सपा सांसद आजम खान ( azam khan ) ने पलटवार किया है।

गिरिराज सिंह के बयान पर आजम का तंज

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बयान पर तंज कसते हुए आजम खान ने कहा कि जिस परिवार में दो-तीन से ज्यादा बच्चे हैं उन पति-पत्नी को फांसी दे देना चाहिए। क्योंकि नहीं रहेगा बांस और नहीं बजेगी बांसुरी। इसके अलावा सपा सांसद ने अपने बयान में कहा कि लोकतंत्र की हत्या की जा रही है।

गिरिराज सिंह ने क्या कहा था

दरअसल बेगूसराय के बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ( union minister giriraj singh ) अक्सर जनसंख्या को देखते हुए बच्चे को लेकर देश में समान कानून लागू करने की मांग करते रहते हैं। एक बार फिर इसी के तहत उन्होंने कहा कि भारत की बढती जनसंख्या बड़ी चेतावनी है और इससे संसाधन और सामाजिक समरसता को खतरा पैदा हो गया है।

वोट का अधिकार रद्द करने की मांग
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वोट के ठेकेदारों ने जनसंख्या को धर्म से जोड़ दिया है। जनसंख्‍या नियंत्रण को इस्लामिक देश स्वीकार कर रहे हैं, लेकिन भारत में इसे धर्म से जोड़ा जाता है। हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए दो बच्चों का नियम होना चाहिए और जो इस नियम को नहीं माने उसका वोटिंग का अधिकार (Right to vote) खत्‍म कर देना चाहिए। गिरराज सिंह ने इससे पहले ट्वीट करके कहा कि जनसंख्या विस्फोट अर्थव्यवस्था, सामाजिक समरसता और संसाधन का संतुलन बिगाड़ रहा है। जनसंख्या नियंत्रण में अड़चन का एक कारण धार्मिक व्यवधान भी है। देश 1947 की तरह सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है। उन्‍होंने आगे लिखा कि सभी राजनीतिक दलों को जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए आगे आना होगा।

 

 

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned