रेल के निजीकरण और निगमीकरण के खिलाफ आज काला दिवस

2 जुलाई को डीजलशेड पर प्रदर्शन, 5 जुलाई को डीआरएम गेट पर धरना

By: Ashish Pathak

Published: 01 Jul 2019, 12:01 AM IST

रतलाम। ( western railway employees union ) निगमीकरण और प्राइवेट हाथों में ट्रेनों का संचालन दिए जाने को लेकर आँल इंडिया रेलवे मेन्स यूनियन ( All India Railwaymen's Federation )ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसी क्रम में रेल मंडल में एक जुलाई को रेल के कर्मचारी काला दिवस मनाते हुए बाहों में काली पट्टी बांध कर काम करेंगे। इतना ही नहीं हर शाखा स्तर पर गेट मीटिंग करके मंत्रालय ने नाम ज्ञापन सौंपेगे। फैडरेशन ने चेतावनी दी है कि अगर जल्दी ही रेलवे बोर्ड ने निगमीकरण के आदेश को वापस नहीं लिया तो आंदोलन को और धार दिया जाएगा।

Black day against privatization

जनजागरण अभियान चलेगा

वेस्टर्न रेलवे एम्प्लाईज यूनियन के मंडल मंत्री एसबी श्रीवास्तव ने बताया कि इसी क्रम में महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा ने एआईआरएफ के सभी जोनल महामंत्रियों को पत्र लिखा है, जिसमें सरकार साफ किया गया है कि अब हमें आंदोलन के लिए तैयार होने के साथ ही भारतीय रेल के कर्मचारियों को एकजुट करना होगा। महामंत्री ने कहा कि फिलहाल देश भर में एक जुलाई को काला दिवस मनाया जाएगा। इसके तहत भारतीय रेल के कर्मचारी अपनी बाहों में काला फीता बांध कर काम करेंगे। इतना ही हर शाखा स्तर पर गेट मीटिंग कर निगमीकरण और ट्रेनों का संचालन निजी क्षेत्र में दिए जाने का विरोध किया जाएगा। सभी शाखाओं से द्वारा एक ज्ञापन भी सरकार को सौंपा जाएगा। महामंत्री ने कहाकि इतना ही दो से छह जुलाई तक सभी शाखाएं अपने अपने यहां व्यापक जनजागरण अभियान चला कर सरकार की साजिश के बारे में कर्मचारियों को अवगत कराएंगी।

Black day against privatization

डीजलशेड गेट पर आंदोलन

एआईआरएफ महामंत्री ने कहा कि इस बीच अगर रेलवे बोर्ड अपने आदेश को वापस ले लेता है तो ठीक है, वरना रेल कर्मचारी निगमीकरण और ट्रेनों का संचालन निजी क्षेत्र को सौंपने के खिलाफ अपने आंदोलन को और धार देने को मजबूर होगी।मंडल में भी 1 जुलाई को काला दिवस मनाया जाएगा। इसके अलावा 1 जुलाई से 6 जुलाई तक मंडल की सभी शाखाओ में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। शहर में 2 जुलाई को डीजल शेड गेट पर सुबह 7.30 बजे तथा 5 जुलाई को मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय पर दोपहर 12 बजे विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

Black day against privatization
Show More
Ashish Pathak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned