VIDEO सुपारी देकर हत्या का षड्यंत्र करने वाले चार आरोपी पुलिस गिरफ्त में, पिस्तौल व जिंदा कारतूस बरामद

आरोपियों ने सुपारी देने के साथ ही पिस्तौल और कारतूस भी उपलब्ध कराए थे, पुलिस ने दो पिस्तौल और आठ जिंदा कारतूस बरामद कर लिए

By: Ashish Pathak

Published: 24 Mar 2021, 02:03 PM IST

रतलाम. सुपारी देकर युवक की हत्या कराने का षड्यंत्र रचने वाले चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। आरोपियों के कब्जे से दो पिस्टल और आठ कारतूस भी जब्त किए है। आरोपियों ने उस व्यक्ति को सुपारी दी जिस पर वह 50 हजार रुपए मांग रहे थे। हत्या करने के बदले उसके 50 हजार तो माफ करने और इसके अलावा दो लाख रुपए और देने का प्सस्ताव रखा था। उसने हत्या नहीं की तो उससे 50 हजार के बदले चार गुना राशि मांगने और धमकाने के बाद इस बात का भंडाफोड़ हुआ। गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों पर अलग-अलग पुलिस थाना क्षेत्रों में दर्जनों प्रकरण दर्ज है।

ऐसे फसाया युवक को हत्या करने

पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने प्रेसवार्ता में बताया कि फरियादी मुकुल पंवार का किसी बात को लेकर पिन्टू टांक नामक व्यक्ति से करीब दो वर्ष पूर्व विवाद हो गया था। फरियादी मुकुल और पिन्टू टांक के बीच हुए विवाद की जानकारी बलवन्त गोयल नामक व्यक्ति को थी। बलवन्त गोयल का भी पिन्टू टांक से पुराना विवाद था। जून-जुलाई 2020 के दौरान बलवन्त उर्फ बल्ली गोयल ने फरियादी मुकुल टांक को आशापुरा होटल पर बुलाया। होटल पर बलवन्त के साथ तीन अन्य व्यक्ति दीपक उर्फ दीपू टांक पिता प्रकाश टाक 32 निवासी डीडी नगर, विनोद उर्फ वीनू पिता प्यारेलाल शर्मा 28 निवासी डीडी नगर और अविनाश उर्फ चिन्टू टांक पिता प्रकाश टाक 33 निवासी टाटानगर भी मौजूद थे। दीपक उर्फ दीपू टांक ब्याज पर रुपए उधार देने का काम करता है और फरियादी मुकुल पांवार को भी उसने करीब डेढ साल पहले पचास हजार रुपए उधार दिए थे। आरोपियों ने फरियादी मुकुल पंवार पर उसी समय उधार दिए पचास हजार रुपए तथा ब्याज के लिए दबाव बनाया। मुकुल ने उधारी चुकाने में असमर्थता व्यक्त की, तो उन्होंने मुकुल के सामने पिन्टू टांक की हत्या करने का प्रस्ताव रखा। आरोपियों ने कहा कि वे मुकुल पंवार को हत्या के लिए हथियार भी मुहैया करवा देंगे और उधार लिए गए पचास हजार रु. की वसूली भी माफ कर देंगे। इसके एवज में उसे पिन्टू टांक की हत्या करना होगी। आरोपियों ने मुकुल पंवार से यह भी कहा कि यदि वह पिन्टू टांक की हत्या कर देता है, तो उसे दो लाख रुपए अलग से देंगे। यदि जेल होती है तो वे इसका खर्चा भी उठाएंगे।

crime.jpg

मुकुल ने टाला तो उस पर बनाया दबाव

पुलिस अधीक्षक तिवारी ने पत्रकार वार्ता में बताया कि आशापुरा होटल में तो मुकुल पंवार ने उनके प्रस्ताव को जैसे तैसे टाल दिया और पिंटू नामक युवक की हत्या नहीं की, लेकिन आरोपियों ने फिर से 22 मार्च 2021 को मुकुल पंवार पर दबाव बनाया और हत्या ना करने पर उधारी में दिए पचास हजार रुपए के बदले चार गुना रकम वसूलने की धमकी दी। बार-बार हत्या करने के लिए दबाव बनाने और धमकियां देने से परेशान होकर फरियादी मुकुल पंवार औद्योगिक क्षेत्र पुलिस थाने पर पंहुचा और पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी। उक्त जानकारी तत्काल एसपी तिवारी को दी गई। तिवारी ने घटना की गंभीरता को देखते हुए त्वरित कार्रवाई के लिए सीएसपी हेमन्त चौहान के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। इस टीम में औद्योगिक क्षेत्र थाना प्रभारी नीरज सारवान, माणक चौक थाना प्रभारी अयूब खान शामिल किए गए। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए प्रकरण के चारों आरोपियों दीपू उर्फ दीपक पिता प्रकाश टांक, उसके भाई अविनाश उर्फ चिन्टू टांक, बबलू उर्फ बल्ली उर्फ बलवन्त पिता देवीसिंह राजपूत 34 और वीनू उर्फ विनोद 28 को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दीपू उर्फ दीपक टांक और विनोद उर्फ वीनू शर्मा के कब्जे से एक एक पिस्टल और दो दो जिन्दा कारतूस भी जब्त किए है। आरोपियों के विरुद्ध आम्र्स एक्ट और ऋणियों का संरक्षण अधिनियम समेत अनेक धाराअओं में प्रकरण दर्ज किया गया। पुलिस टीम ने फरियादी मुकुल पंवार से आरोपियों के आडियो विडीयो साक्ष्य भी संकलित किए गए।

murder01.jpg

आरोपियों पर दर्ज है दर्जनों केस

पुलिस अधीक्षक तिवारी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए चारों आरोपी आदतन अपराधी है और इनके खिलाफ कई थानों में दर्जनों आपराधिक प्रकरण पूर्व से दर्ज है। आरोपी दीपू टांक के खिलाफ विभिन्न थानों पर 32 आपराधिक केस दर्ज है। इसमें हत्या के प्रयास जैसे गंभीर प्रकरण भी है। इसके अलावा अविनाश उर्फ चिन्टू टांक व बलवन्त राजपूत के खिलाफ सात-सात आपराधिक के और विनोद शर्मा के खिलाफ तीन अपराध दर्ज है। इन आरोपियों से दो पिस्तौल और आठ जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए हैं।

crime_scene.jpg
Show More
Ashish Pathak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned