21 दिन में 26 लाख रुपए का ब्याज वसूला

दीपू टांक गिरोह का पर्दाफाश, अब तक 148 लोग हो चुके इनका शिकार, छह माह में छह करोड़ का ट्रांजेशन मिला इनसे बरामद लैपटाप और पैनड्राइव से

By: Ashish Pathak

Published: 26 Mar 2021, 07:41 PM IST

रतलाम. सुपारी देकर हत्या का षड्यंत्र रचने वाले गिरोह की परतें खुलती जा रही है। पुलिस जांच में यह पूरा गिरो सूदखोर भी निकला। फर्जी बालाजी फाइनेंस कंपनी खोलकर लोगों से 15 से 20फीसदी ब्याज वसूली का इनका धंधा रहा है। औद्योगिक क्षेत्र अंतर्गत हाल ही में एक युवक की शिकायत पर सलाखों के पीछे पहुंचे दीपू टांक और उसके साथियों ने बालाजी फाइनेंस कंपनी खोलकर जरूरतमंदों के चेक, पैनकार्ड, डैबिट कार्ड सहित शपथपत्र लेकर 15 से 20 प्रतिशत का ब्याज वसूला है। 21 दिन में 26 लाख रुपए का ब्याज वसूला है।

हत्या के षड्यंत्र में गिरफ्तार हो चुके दीपू टांक और उसके गिरोह के साथियों द्वारा ब्याज के रूपये पर लोगों को धमकाना और उनकी बहू-बेटी को उठा ले जाने जैसे गंभीर शिकायत पर एसपी गौरव तिवारी ने टीम का गठन कर जाँच करवाई। जाँच में कई राज ऐसे सामने आए जिससे स्पष्ठ है कि आरोपी दीपू टांक और उसके साथी अविनाश उफऱ् चिंटू, छोटू उफऱ् श्रीकांत, अर्जुन टांक, नागेश्वर टांक सहित अन्य गुंडे अर्से से लोगों को रुपए देकर भारी ब्याज वसूलते थे। एसपी तिवारी ने पत्रकार वार्ता में बताया कि प्रारम्भिक जांच में अभी तक इन गुंडों के सताए 148 लोगों के नाम सामने आए हैं जो इनके द्वारा पीडि़त थे। सभी आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने अलग-अलग धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है।

Tamil Nadu Assembly Elections 2021: seize 16-crore dubious cash in TN

21 दिन में 26 लाख रुपए का ब्याज वसूला

शातिर सुदखोर गिरोह चालाकी से काम करता था। जरूरतमंदों को शिकार बनाने के दौरान उनकी बैंक पास बुक से लेकर सभी दस्तावेज अपने पास रखकर उन्हें डरता और धमकाता था। जांच में पाया गया है कि इस शातिर गिरोह में पिछले 21 दिन में 26 लाख रुपये का ब्याज वसूला है। इसके अलावा पिछले छह माह में करीब 6 करोड़ रूपये की अवैध वसूली की है। इनसे बरामद हुए लैपटाप और पैन ड्राइव की जांच की जा रही है। अब तक इनके चंगुल में 148 लोगों के फंसे होने की जानकारी सामने आई है। पुलिस अधीक्षक का कहना है कि अब तक लगभग 50 लोग पुलिस के संपर्क में आ चुके हैं जो इनसे पीडि़त थे। अब भी लोग सामने आते हैं तो उनकी मदद की जाएगी।

Show More
Ashish Pathak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned