शहर में डेंगू, मलेरिया की रोकथाम के नहीं कोई इंतजाम, नगरपालिका बरत रही लापरवाही

न पानी निकासी की व्यवस्था, न हो रहा दवाओं का छिड़काव

By: sachendra tiwari

Published: 28 Sep 2020, 09:15 AM IST

बीना. शहर में जगह-जगह साफ और गंदा पानी भरा हुआ है, जिससे डेंगू, मलेरिया फैलने की आशंका बढ़ गई है। इसके बाद भी नगरपालिका द्वारा इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। यहां न तो पानी निकासी की व्यवस्था की जा रही है न ही मच्छर मारने वाली दवाओं का छिड़काव किया जा रहा है।
शहर का ऐसा कोई भी वार्ड नहीं है जहां खाली प्लाटों में पानी न भरा हो। इसके बाद भी यहां निकासी की व्यवस्था नहीं की जा रही है। साफ पानी भरा होने के कारण डेंगू का लार्वा पनप रहा है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने अभी तक न तो लार्वा सर्वे शुरू कराया है और न ही नगरपालिका ने कोई तैयारी की है।
मलेरिया निरीक्षक का पद पड़ा खाली
शहर में मलेरिया विभाग में निरीक्षक और टेक्नीकल सुपरवाइजर का पद खाली पड़ा है। जबकि डेंगू, मलेरिया की रोकथाम के लिए इस विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। इसके बाद भी यहां खाली पड़े पदों को भरा नहीं जा रहा है। यह स्थिति लंबे समय से बनी हुई है।
मरीज मिलने पर होता है सर्वे शुरू
जगह-जगह पानी जमा होने के बाद भी लार्वा सर्वे शुरू नहीं किया गया है। मरीज मिलने के बाद ही जिम्मेदार जागते हैं और फिर सर्वे शुरू कराया जाता है। जबकि शहर में यदि लार्वा सर्वे शुरू कराया जाए तो बड़ी मात्रा में लार्वा मिलेगा। शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों का भी यही हाल है, वहां भी सर्वे शुरू नहीं हो पाया है।
कार्ययोजना की गई है तैयार
डेंगू, मलेरिया को लेकर कार्ययोजना तैयार की गई है और कर्मचारियों को ट्रेनिंग भी दी जा रही है। ग्रामीण क्षेत्र में आशा कार्यकर्ताओं को रेपिट टेस्ट किट भी दी गई है और किसी भी व्यक्ति को बुखार होने पर उसकी जांच की जा रही है। शहर में दवाओं का छिड़काव नगरपालिका द्वारा किया जाता है।
डॉ. संजीव अग्रवाल, बीएमओ

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned