scriptkind illegal quarrying of the sand the city will craving for the water | ऐसे ही चलता रहा रेत का अवैध उत्खनन तो बूंद—बूंद पानी को तरस जाएंगे शहरवासी | Patrika News

ऐसे ही चलता रहा रेत का अवैध उत्खनन तो बूंद—बूंद पानी को तरस जाएंगे शहरवासी

बोट मशीनों से निकाल रहे नदी के अंदर से हजारों ट्रॉली रेत

सागर

Updated: March 04, 2019 09:23:01 pm

बीना. नदियों में हो रहे अवैध रेत उत्खनन से राजस्व को तो हानि हो ही रही है वहीं दूसरी ओर उत्खनन से नदी सूख भी सकती है, जिससे गर्मियों में जलसंकट गहरा सकता है। इसके बाद भी इस ओर अधिकारी गंभीरता नहीं दिखा रहे हैं। यदि समय रहते अवैध उत्खनन पर रोक नहीं लगाई गई तो पूरा क्षेत्र पानी के लिए परेशान होगा।
नगर और रेलवे में बीना नदी से पानी की सप्लाई होती है। शहर के ७० हजार लोगों सहित रेलवे के लोगों की प्यास यही नदी बुझा रही है, लेकिन अवैध रेत उत्खनन के कारण इस नदी का अस्तित्व ही खतरे में नजर आ रहा है। बीना नदी ज्यादा बड़ी न होने के कारण इसमें बारिश का पानी ही रहता है जो लोगों के घरों तक सप्लाई होता है। इस नदी में ऐरन के पास बोट डालकर पानी के अंदर से रेत निकाली जा रही है, जिससे वहां गड्ढे बन रहे हैं और नदी की सतह भी निकल सकती है। चार बोटों से हजारों ट्रॉली रेत यहां निकल रही है। अवैध उत्खनन से नदी जलस्तर खिसक रहा है और भीषण गर्मी आते-आते नदी सूख भी सकती है, जिससे शहरवासी बूंद-बूंद पानी को तरसेंगे। रेत निकलने के बाद नदी की सतह निकल आएगी और पानी जमीन में चला जाएगा। रेत से नदी में जल संग्रहण भी होता है और पानी को लंबे समय तक रोके हुए रखती है।
बेतवा नदी भी हो रही छलनी
बीना नदी के साथ बेतवा नदि से भी जमकर रेत उत्खनन किया जा रहा है। जिससे इन नदी पर निर्भर ग्रामीण भी गर्मियों में पानी के लिए परेशान होंगे। बेतवा नदी में भी करीब छह बोट मशीन डालकर उत्खनन किया जा रहा है। इसके बाद भी जिम्मेदार अशिकारी सिर्फ कार्रवाई के नाम पर रस्मअदायगी कर रहे हैं।
रेत उत्खनन से घटता है जलस्तर
अवैध रेत उत्खनन से भू-जल प्रदूषित होता है। साथ ही रेत नदी में पानी को रोकती है और रेत निकलने से जलस्तर गिर जाता है। रेत पानी फिल्टर भी करती है और फिल्टर पानी जमीन में जाता है, लेकिन रेत निकलने से प्रदूषित पानी ही जमीन में जाएगा। रेत से नदी में यदि पानी संग्रह करने की क्षमता एक वर्ग मीटर में एक हजार लीटर है तो रेत निकलने से यह क्षमता बहुत कम हो जाएगी। उत्खनन से पुरातत्व संपदा की नींव कमजोर होने से वह गिर सकती है।
विक्रांत तोगट, पर्यावरणविद, नोएडा

kind illegal quarrying of the sand the city will craving for the water
kind illegal quarrying of the sand the city will craving for the water
 

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Floor Test: महाराष्ट्र विधानसभा में शिंदे सरकार का शक्ति परीक्षण आज, स्पीकर ने उद्धव खेमे को दिया झटकाहिमाचल प्रदेश के कुल्लू में बड़ा हादसा, सैंज घाटी में गिरी बस, बच्चों समेत 16 लोगों की मौतपीएम मोदी आज जाएंगे आंध्र प्रदेश, अल्लुरी सीताराम राजू की प्रतिमा का करेंगे अनावरणदिल्ली विधानसभा का दो दिवसीय सत्र आज से होगा शुरू, विधायकों की सैलरी समेत कई विधेयकों को मिल सकती है मंजूरीलालू यादव ICU में भर्ती, बेहोशी की हालत में लाए गए थे अस्पताल, कल सीढ़ी से गिरने पर टूटी थी हड्डीपंजाब: मुख्यमंत्री भगवंत मान आज कैबिनेट का करेंगे विस्तार, पांच नए मंत्री लेंगे शपथजम्मू-कश्मीर: अमरनाथ यात्रा के बीच अनंतनाग में आतंकी हमला, आतंकियों ने पुलिसकर्मी को मारी गोलीकोपनहेगन के शॉपिंग मॉल में ताबड़तोड़ फायरिंग, 7 लोगों की मौत, कई घायल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.