समर्थन मूल्य केन्द्र पर किसानों से लिए जा रहे रुपए, ज्यादा तौला जा रहा गेहूं

जिम्मेदार अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान

By: sachendra tiwari

Published: 08 May 2021, 09:12 PM IST

बीना. समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए एक माह हो चुका है और अभी भी क्षेत्र में बड़ी संख्या में किसान ऐसे हैं, जिनके पास मैसेज नहीं पहुंचे हैं। मैसेज न पहुंचने के कारण किसान गेहूं बेचने के इंतजार में बैठे हैं। साथ ही समर्थन मूल्य खरीदी केन्द्रों पर बरती जा रही अनियमितताओं से भी किसान परेशान हैं।
मंडी बंद होने के कारण समर्थन मूल्य में रजिस्ट्रेशन कराने वाले किसान अपना गेहूं जल्द से जल्द बेचना चाहते हैं, लेकिन मैसेज बहुत कम किसानों के पास पहुंच रहे हैं और किसान गेहूं नहीं बेच पा रहे हैं। भांकरई के किसान चंद्रभान सिंह ने बताया कि उन्हें अभी तक गेहूं केन्द्र पर तौल कराने के लिए ले जाने मैसेज नहीं आया है, जबकि खरीदी एक माह से चल रही है। इसी प्रकार क्षेत्र के कई किसान मैसेज आने के इंतजार में बैठे हैं। पहले मैसेज बड़े किसानों के लिए ज्यादा भेजे गए हैं, जिससे छोटे किसानों को इंतजार करना पड़ रहा है। हालांकि गेहूं खरीदी की तारीख बढ़ाकर २५ मई कर दी गई है, जिससे सभी किसानों का गेहूं खरीदा जाएगा।
तौल के लिए जा रहे रुपए, गेहूं तौल रहे ज्यादा
किसान नेता इंदर सिंह ने बताया कि केन्द्रों पर समिति संचालकों द्वारा अनियमितताएं बरती जा रही हैं और अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। यहां तौल के किसानों से बीस रुपए प्रति क्ंिवटल लिए जा रहे हैं और पचास किलो की तौल पर ४०० ग्राम गेहूं ज्यादा लिए जा रहे हैं, जिससे किसान परेशान हैं। किसान नेता ने चेतावनी दी है कि केन्द्रों पर बरती जा रही अनियमितताओं में सुधार नहीं कराया गया तो प्रदर्शन करने मजबूर होंगे। क्योंकि किसान पहले से ही परेशान हैं और अब उन्हें गेहूं बेचने के लिए भी परेशान होना पड़ रहा है।
मिल रही हैं शिकायतें
तौल के बदले रुपए लेने की शिकायतें मिल रही हैं। शिकायतों की जांच कर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई होगी।
संजय जैन, तहसीलदार, बीना

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned