अध्यक्ष को पता ही नहीं चला और बदल गया ऑफिस, पहुंचे तो दंग रह गए

मामले का खुलासा ८ फरवरी को हुआ।

सागर. बुंदेलखंड विकास प्राधिकरण (बीडीए) का दफ्तर तीसरा बार बदल दिया गया। अब हाल ही में दफ्तर का सामान कमिश्नर ऑफिस से योजना एवं प्लानिंग विभाग की ज्वाइंट डायरेक्टर के ऑफिस में शिफ्ट करवा दिया गया है।
अध्यक्ष से लेकर सदस्यों तक किसी को इसकी खबर नहीं है। मामले का खुलासा ८ फरवरी को हुआ। दरअसल, जब बीडीए अध्यक्ष डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया सागर पहुंचे और उन्होंने ऑफिस जाने की बात कही तो उन्हें दफ्तर बदले जाने की सूचना मिली। इस पर वे खासे नाराज हुए। कुछ समय से बीडीए कार्यालय कमिश्नर ऑफिस के भवन में संचालित हो रहा था। इसके पहले यह सर्किट हाउस नंबर २ के पर्यटन मण्डल के कक्ष में था, लेकिन वहां से इसे खाली करा लिया गया। इसके बाद प्राधिकरण का ऑफिस कमिश्नर ऑफिस के एक कमरे में खोल दिया गया, तभी से यहां संचालित हो रहा था। २ फरवरी को बीडीए की बैठक मेंं सदस्यों ने संभागायुक्त सहित अन्य अधिकारियों से प्राधिकरण के भवन के लिए आरटीओ के पास १३ एकड़ की भूमि आवंटित करने की मांग की थी।
किसी को नहीं दी जानकारी
बीडीए कार्यालय में फोटोकॉपी मशीन, टेबल, कुर्सी, फाइल सहित अन्य दस्तावेज थे, जिन्हें कमिश्नर ऑफिस के कक्ष से निकालकर खाली कर दिया गया है। प्राधिकरण का सामान यहां से कब खाली कर कहां रखा गया है, इसकी जानकारी प्राधिकारण की सीईओ रीता सिंह द्वारा न अध्यक्ष को दी गई और न ही अन्य सदस्यों को।

गुरुवार को सागर जाकर मुझे इस बात का पता चला कि कार्यालय को कमिश्नर ऑफिस से खाली करा दिया गया है। ऑफिस का सामान कहां पर रखा है, इसकी जानकारी किसी को नहीं है। अधिकारियों को बगैर किसी सूचना के एेसा नहीं करना चाहिए। यह गलत है। -रामकृष्ण कुसमरिया, अध्यक्ष बीडीए

कमिश्नर भवन में संचालित प्राधिकरण का सामान योजना एवं प्लानिंग विभाग की ज्वाइंट डायरेक्टर रीता सिंह ने अपने ऑफिस में शिफ्ट करवा लिया है। -आशुतोष अवस्थी, संभागायुक्त

...इधर अध्यक्ष सीईओ ही नहीं पहुंची बैठक में, सदस्यों ने जताई नाराजगी
सागर. जनपद पंचायत सागर की साधारण सभा की बैठक शुक्रवार को आयोजित की गई थी, लेकिन सदस्यों को बैठक की सूचना देने के बाद अध्यक्ष और सीईओ दोनों ही बैठक में नहीं पहुंचे। जानकारी के अनुसार जनपद सदस्यों के लिए लिखित में सूचना भेजकर शुक्रवार को साधारण सभा की बैठक बुलाई गई थी। इसमें फॉरेस्ट, एज्युकेशन, निर्माण संबंधी कई बिंदुओं पर चर्चा होनी थी, लेकिन दोपहर साढ़े तीन बजे तक जब अध्यक्ष छोटेसिंह और जनपद सीईओ मंजू खरे नहीं पहुंची तो सदस्यों ने नाराजगी जताना शुरू कर दिया। बैठक में शामिल होने आए बरौदा सागर के जनपद सदस्य दिनेश सिंह ने आरोप लगाया कि सदस्यों को बुलाकर दोपहर 3 बजे तक जनपद अध्यक्ष और सीईओ मंजू खरे नहीं पहुंची। बैठक में क्षेत्र से जुड़े हुए कई गंभीर मामलों पर चर्चा होना थी, लेकिन जिम्मेदार अधिकारी नजरअंदाज कर रहे।
मैं गढ़ाकोटा में थी
&साधारण सभा की बैठक शुक्रवार को होनी थी, लेकिन कोरम पूरा न होने केकारण स्थगित कर दी गई। बैठक में सिर्फ 5 सदस्य ही आए थे। मैं गढ़ाकोटा में बैठक में थी और पंचायत इंस्पेक्टर को अधिकृत किया था।
- मंजू खरे, सीईओ सागर जनपद

Show More
शशिकांत धिमोले Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned