हजारों क्विंटल गेहूं रखा खेतों में, बारिश में भीगा, समय पर नहीं किया गया परिवहन

गुरुवार को दिनभर हुई बारिश

By: sachendra tiwari

Published: 05 Jun 2020, 09:30 AM IST

बीना/मंडीबामोरा. पुरैना समिति का हजारों क्विंटल गेहूं परिवहन न होने के कारण खेत में खुले आसमान के नीचे रखा है। गेहूं के बचाने के लिए ऊपर से बरसाती तो डाली गई हैं, लेकिन नीचे से गेहूं की बोरियों में पानी भर रह जाएगा।
मिली जानकारी के अनुसार इस केन्द्र पर 6500 क्विंटल गेहूं रखा हुआ है, जिसका समय पर परिवहन न होने से अब बारिश में यह खराब हो सकता है। गुरुवार को सुबह से ही रुक-रुक का बारिश जारी है। समिति प्रबंधक राजेन्द्र तिवारी ने बताया कि गांव में ज्यादा बारिश नहीं हुई है, जिससे अभी नुकसान नहीं हुआ है। बोरियों को बरसाती से ढंककर रखा गया है।
मंडी में पानी भरने से दस हजार क्विंटल गेहूं भीगा
मंडीबामोरा में बारिश के कारण मंडी में पानी भरने के कारण करीब दस हजार क्विंटल गेहूं भीग गया है। यह स्थिति समय पर परिवहन न होने के कारण बनी।
मौसम विभाग की चेतावनी के बाद खरीदी केंद्र पर खुले में रखे हजारों क्विंटल गेहूं का परिवहन नहीं किया गया। इसमें किसान का 3702 क्विंटल ऐसा गेहूं रखा है जो साइड बंद होने की के कारण ऑनलाइन दर्ज नहीं किया जा सका है। केन्द्र प्रबंधक कुलदीपसिंह ठाकुर ने बताया कि टीनशेड में रखा 654 क्विंटल चना ही बारिश के पानी से बच सका है। बाकी पूरा गेहूं खुले में होने के कारण भीग गया। बार-बार कहने के बाद मंडी परिसर से बारिश के पानी निकासी के इंतजाम नहीं किए गए, जिससे जलभराव की स्थिति बनी है और पूरे गेहूं में पानी भर गया। बारिश से मौसम में भी ठंडक घुल गई है।
खेत में सड़ रहा अनाज
कल्हार के खरीदी केंद्र पर तो हालात बहुत ही गंभीर है। बारिश का पानी बोरियों के नीचे भरा रहने की वजह से अनाज खेत में ही सडऩे लगा है, लेकिन फिर भी परिवहन नहीं किया जा रहा है। यहां पूर्व में हुई बारिश में भी अनाज भीगा था, जिससे बहुत दिनों से पानी बोरों के नीचे भरा हुआ है। केंद्र पर लगभग चना 3200 क्विंटल चना व 10 हजार क्विंटल गेहूं खुले मैदान में पड़ा हुआ है जो एक बार फिर गुरुवार को हुई बारिश में भीगता रहा है।

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned