जिन क्लीनिकों पर कोरोना पॉजिटिव ने कराया था इलाज उन्हें कराया बंद, डॉक्टरों को किया क्वॉरंटीन

लक्षण आने पर लिए जाएंगे सैम्पल

By: sachendra tiwari

Published: 01 Jun 2020, 11:44 PM IST

बीना. गुप्ता गार्डन गुलौआ निवासी व्यक्ति के कोरोना पॉजीटिव निकलने के बाद उसके परिवार के लोगों को संस्थागत क्वॉरंटीन किया गया और अन्य लोगों को होम क्वॉरंटीन किया गया है। व्यक्ति संक्रमित कहां से हुआ है उसकी जानकारी जुटाई जा रही है।
संक्रमित व्यक्ति जहां रहता है उस क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया बनाया गया है। यहां से अब किसी भी व्यक्ति के आने जाने पर रोक रहेगी। साथ ही जरूरत का सामान वहीं उपलब्ध कराया जाएगा। तहसीलदार संजय दुबे ने सोमवार शाम कंटेनमेंट जोन का निरीक्षण किया। इस एरिया में सात मकान हैं। इस क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग द्वारा आसपास के मकानों में सर्वे कार्य भी शुरू करा दिया गया है। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा पीडि़त के दो बच्चे, पत्नी और ससुर को संस्थागत क्वॉरंटीन कराया है। साथ ही देहरी में उसके रिश्तेदारों को होम क्वॉरंटीन किया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम में शामिल डॉ. अवतार सिंह ने उन दो क्लीनिकों को भी बंद करा दिया है, जहां मरीज ने इलाज कराया था। देहरी रोड पर जिस डॉक्टर से मरीज ने इलाज कराया था उसके पास कोई डिग्री भी नहीं है। डॉक्टर ने बिहरना गांव जाकर भी इलाज किया और मोहल्ले के लोगों का भी इलाज किया है। जिन लोगों का इलाज किया गया है उसकी जानकारी भी निकाली जा रही है, जिससे उन्हें होम क्वॉरंटीन किया जा सके।
लक्षण आने पर लिए जाएंगे सैम्पल
बीएमओ डॉ. संजीव अग्रवाल ने बताया कि मरीज के संपर्क में आने वाले किसी भी व्यक्ति के अभी सैम्पल नहीं लिए जाएंगे। यदि उनमें लक्षण दिखते हैं तो सैम्पल होंगे। इसलिए कुरवाई टोल पर कोरोना पॉजीटिव के संपर्क में आने वालों के भी सैम्पल नहीं लिए गए हैं।
दो साल से है बीमार
कोरोना पॉजीटिव की अभी तक की हिस्ट्री में यह बात सामने आई है कि वह दो साल से श्वास, फेफड़ों में संक्रमण, शुगर, दिल की बीमारी से ग्रसित है। चार माह पूर्व दिल में छेद का ऑपरेशन भी किया गया था और इलाज चल रहा है।

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned